Breaking News
Home / ख़बर / देश / गौरव शर्मा की जान ले लिए नए ट्रैफिक नियम, बूढ़े मां-बाप और मासूम बेटी हुए बेसहारा

गौरव शर्मा की जान ले लिए नए ट्रैफिक नियम, बूढ़े मां-बाप और मासूम बेटी हुए बेसहारा

इनकी उम्र 35 साल थी. एक बच्ची है छह साल की. लेकिन सड़क का तनाव उन्हें खा गया. ट्रैफिक पुलिस के साथ चालान काटने के बारे में बहस करते हुए नोएडा में इस सॉफ्टवेयर कंपनी के कर्मचारी की सड़क पर ही दिल का दौरा पड़ने से मृ त्यु हो गई है. इनका नाम गौरव शर्मा था. वे अपनेमाता-पिता के साथ नोएडा के सेक्टर -62 में रहते थे.

इस मामले में गौरव के पिता जो घटना के समय उनके साथ ने बताया कि ट्रैफिक सिपाही ने उन्हें रोकने के लिए उनकी कार में लाठी मारी और इसके बाद गौरव और पुलिस के बीच गरमागरम बहस हुई. इसके साथ ही गौरव के परिवार ने पुलिस पर भी गर्म बहस के दौरान अभद्र भाषा का उपयोग करने का आरोप लगाया.

जानकारी के अनुसार गौरव पुलिस से बहश के दौरान अचानक होश खो बैठे और जमीन पर गिर पड़े. इसके बाद उसकी मदद करने के बजाय पुलिस यह सब देखकर वहां से भाग गई .

मौजूद लोगों की मदद से गौरव को फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया जहां उन्होंने इसका इलाज करने से मना कर दिया. और फिर कैलाश अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. गौरव अकेले ही अपने घर को चला रहे थे.

वह नोएडा में अपने बुजुर्ग माता-पिता के अलावा अपनी पत्नी और छह साल की बेटी का पालन-पोषण कर रहे थे. गौरव नोएडा में एक सॉफ्टवेयर कंपनी के मार्केटिंग विभाग में काम करते थे.

सड़क सुरक्षा का मैं समर्थक हूँ. कानून भी कड़े हों लेकिन मैंने दुनिया के कम से कम 12 देशों में सड़क पर ट्रेप लगा कर लोगों को पकड़ते नहीं देखा. सड़क पर ट्रैफिक वाले दिखते नहीं.

हमारे यहां रेड लाइट पर भी चार पुलिसवाले दिखते है. जाहिर है कि उन्हें अपनी जेब भरने की चिंता रहती है.

( ये लेख पंकज चतुर्वेदी की फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है )

 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com