क्राइम

बाथरूम में लटकी मिली महिला सिपाही की लाश, रौंगटे खड़े कर देगी वजह

 

दिल्ली के छावला इलाके में बुधवार देर रात एक महिला सिपाही ने घर के बाथरूम में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। आंशका है कि किसी बीमारी से परेशान होकर उसने खुदकुशी की है। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार मृतक महिला सिपाही की शिनाख्त ललिता छावला (28) के रूप में हुई है। वह दुर्गा विहार के दाताराम पार्क स्थित गली नंबर-11 में किराए के एक मकान में रहती थी। यह मकान उसकी ही एक साथी महिला पुलिसकर्मी का है। ललिता की 2013 में शादी हुई थी। शादी के कुछ दिन के बाद ही पति से उसकी अनबन शुरू हो गई। अंतत: वह अलग कमरा लेकर रहने लगी थी।

ललिता का मायका रोशनपुरा इलाके में है। परिवार में माता-पिता के अलावा दो भाई हैं। खुद ललिता छावला थाने में तैनात थी। बुधवार रात वह ड्यूटी पर नहीं आई तो थाने से उसे फोन किया गया। मोबाइल फोन नहीं उठा। कई बार प्रयास करने के बाद भी संपर्क नहीं हुआ तो साथी महिला पुलिसकर्मी उसके कमरे पर पहुंची। आवाज दी। दरवाजा अंदर से बंद था। कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई। रात 11.15 बजे पुलिस ने दरवाजा तोड़कर अंदर देखा तो ललिता बाथरूम में वेंटीलेटर से फंदे के सहारे लटकी हुई थी।

पुलिस ललिता को उतारकर नजदीक के एक अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कुछ लोग का कहना है कि ललिता किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थी। बहादुरगढ़ में देसी पद्धति से वह इलाज करा रही थी, लेकिन उसे कौन-सी बीमारी थी यह पता नहीं चला। डीसीपी अंटो अल्फोंस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। ललिता के दोनों भाइयों के बयान भी लिए गए हैं। पुलिस सभी कोणों को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच कर रही है।

Back to top button