ख़बरदेश

गंगापुत्र के खिलाफ उतरे 111 धरतीपुत्र, विरोध करने का है नायाब अंदाज !

इस बार के लोकसभा चुनावों में ‘गंगा के बेटे’ को धरतीपुत्र टक्कर देने जा रहे हैं. जी हां, बनारस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किसानों ने चुनौती देने की ठानी है. दरअसल लंबे समय से दिल्ली में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे तमिलनाडु के 111 किसानों ने मोदी की संसदीय सीट से नामांकन दाखिल करने का फैसला किया है.

दरअसल इन किसानों का आरोप है कि पीएम मोदी किसानों को दिया अपना वादा नहीं पूरा कर रहे है. हालांकि इनका कहना है कि यदि हमारी मांगों को बीजेपी के मैनिफेस्टो में जगह मिल जाती है तो हम अपने फैसले पर दोबारा सोच सकते हैं.

तमिलनाडु के किसान नेता पी. अय्याकन्नु ने बताया कि मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने के हमारे फैसले को देश भर के किसानों और ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमेटी का समर्थन हासिल है. अय्याकन्नु 2017 में दिल्ली में 100 से अधिक दिनों तक चले विरोध प्रदर्शन का मोर्चा संभाल चुके हैं.

यह पूछने पर कि आप सिर्फ बीजेपी से ही ऐसी मांग क्यों कर रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि इस समय इस पार्टी की केंद्र में सरकार है और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री हैं. उनका कहना है कि हम बीजेपी की खिलाफ नहीं हैं. केंद्र में आने के पहले पार्टी ने हमसे हमारी आय दोगुनी करने, 60 साल से ऊपर के किसानों को पांच हज़ार की पेंशन देने जैसे कई वादे किये थे, जो पूरे नहीं हो पाए.

उन्होंने बताया कि वाराणसी जाने के लिए 300 किसानों के टिकट बुक कराये जा चुके हैं. हालांकि किसान नेता ने कहा कि अगर तमिलनाडु से बीजेपी के एकमात्र सांसद राधाकृष्णन ही वादा कर दें तो वो अपने फैसले पर दोबारा सोच सकते हैं.

 

Back to top button