Breaking News
Loading...
Home / ख़बर / देश / Video: दो दिन बाद भाजपाई मंत्री को मिली शहीद के घर जाने की फुर्सत, परिवार ने धो दी इज्जत

Video: दो दिन बाद भाजपाई मंत्री को मिली शहीद के घर जाने की फुर्सत, परिवार ने धो दी इज्जत

कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद होने वाले बिहार के लाल सीआरपीएफ ऑफिसर पिंटू कुमार सिंह को उनकी 5 साल की बेटी पिहू ने रविवार नम आँखों से मुखाग्नि दी. इससे पहले रो-रो कर बेटी अपनी मां से लगातार पूछ रही थी- ‘ये लोग पापा को कहां ले जा रहे हैं. यह बाते सुनकर   वहां खड़े तमाम लोगो  के आंखों में आंसू छलक पड़े। सीआरपीएफ इंस्पेक्टर पिंटू कुमार सिंह की पांच वर्षीया बेटी पीहू ने मुखाग्नि देकर पिता को सलामी देते हुए कहा- पापा जय हिन्द।

दो दिन बाद भाजपाई मंत्री को मिली शहीद के घर जाने की फुर्सत

बताते चले सीआरपीएफ जवान पिंटू कुमार जम्मू-कश्मीर आतंकियों के साथ मुठभेड़ में बीते 1 मार्च को शहीद हो गए थे। रविवार (3 मार्च) की सुबह उनका पार्थिव शरीर पटना एयरपोर्ट लाया गया। इसके बाद बेगूसराय स्थित पैतृक गांव भेजा गया। पटना एयरपोर्ट पर शहीद जवान को श्रद्धांजलि देने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी सहित कोई भी मंत्री नहीं पहुंचे। सिर्फ बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा एयरपोर्ट पहुंचे और उन्होंने श्रद्धांजलि दी थी।

जवान का अंतिम संस्कार होने के बाद देर रात नीतीश सरकार में मंत्री और भाजपा नेता विजय सिन्हा शहीद के घर पहुंचे। यहां परिजनों ने सबके सामने उन्हें फटकार लगाई। परिजन ने कहा, “यह काम नहीं करता है। आप श्रद्धांजलि देने काफी देर से आए हैं। यह एक शहीद का अपमान है।”देर रात शहीद के घर पहुंचे मंत्री विजय सिन्हा और उनके साथ आए लोगों ने सफाई दी। उन्होंने कहा, “हमलोगों को इस बात की तकलीफ है कि समय पर नहीं पहुंचे। कम्यूनिकेशन गैप हुआ है। हमलोगों ने अपने अधिकारी के सामने यह प्रश्न उठाए हैं। यह चूक हुई है। हमें जैसे मालूम हुआ, रात में चलकर आए हैं। संवेदना थी, तब न आए। रैली में इतनी भीड़ थी कि गाड़ी निकल नहीं पा रही थी। जाम नहीं रहता तो हमलोग समय पर ही पहुंच जाते। एक बात बता दें कि आज ये सरकार पूरी तरह से सेना के लिए काम कर रही है।”

इस सफाई पर परिजन ने कहा

“भीड़ कहां नहीं होता है। उस चीज को कंट्रोल किया जा सकता है। उस चीज को रद्द किया जा सकता है। ऐसा नहीं है कि बाद में श्रद्धांजलि देने आए। ये कर देंगे। वो कर देंगे। ये हो गया। वो हो गया। ये तो शहीद का अपमान हो गया। इसका यही मतलब है कि इतनी बड़ी शहादत को कोई प्रभाव ही नहीं पड़ा।”

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com