क्या है अखिलेश का वो अगला कदम, जिसकी तैयारी का वो भरे हैं दम ?

0
46

 -

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को बसपा प्रमुख मायावती से मिलने के लिए उनके आवास पहुंचे। लोकसभा चुनाव के उत्तर प्रदेश को लेकर आये एग्जिट पोल पर अखिलेश यादव ने प्रसन्नता जाहिर की है।  अखिलेश अपने आवास से निकले और सीधे मायावती के आवास पर पहुंचे। लोकसभा चुनाव के बाद अखिलेश और मायावती के मुलाकात के खास मायने है। माना जा रहा है कि दोनों शीर्ष नेताओं में करीब 1 घंटे के मुलाकात में एग्जिट पोल, आगामी सरकार में भागीदारी और विभिन्न मुद्दों पर व्याप्कता से बातचीत हुई हैं। इस बीच बताते चले एग्जिट पोल में केंद्र में  मोदी सरकार  बनने के कयासों के बीच गठबंधन सहयोगी बसपा प्रमुख मायावती से सोमवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव   ने मुलाकात की।

इस मुलाकात के बाद अखिलेश यादव ने दोनों की तस्वीर ट्वीट की है। साथ ही कैप्शन लिखा है कि अब अगले कदम की तैयारी लोकसभा चुनाव के दौरान ओमप्रकाश राजभर की बसपा की प्रति साफ्ट नजरिया रहा। वे अपने बयान में कह चुके हैं कि अगला देश का प्रधानमंत्री दलित की बेटी होगी।  मायावती के सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने की सम्भावना जतायी जा रही थी। राहुल गांधी के साथ में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मायावती मिलने वाली थीं।

लेकिन अब लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद मायावती और अखिलेश दिल्ली जा सकते हैं।   उल्लेखनीय है कि बीते शनिवार को मुख्यमंत्री चंद्रबाबू ने मायावती और अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने नाम नहीं छापने की शर्त पर भाषा को बताया कि ‘भविष्य में पार्टी की क्या रणनीति रहेगी इसका खुलासा चुनाव का अंतिम परिणाम आने के बाद ही किया जाएगा लेकिन तब तक बहन जी लखनऊ में ही रहेंगी।’ विभिन्न एग्जिट पोल के आधार पर यह कहा जा सकता है कि सपा-बसपा गठबधंन उत्तर प्रदेश में भाजपा की 2014 की सीटों में कमी तो लाएगा लेकिन इसके बावजूद वह केंद्र में राजग को सरकार बनाने से नहीं रोक पायेगा।