उत्तर प्रदेश

अयोध्या में हो रही थी खुदाई, मिला कुछ ऐसा कि शुरु हो गया पूजा-पाठ

अयोध्या में खुदाई के दौरान मिला कुछ ऐसा, पूजा की थाली लेकर दौड़े लोग\

अयोध्या में इस चमत्कार को नमस्कार है। बताते चले यूपी के अयोध्या में रविवार को सरयू तट पर स्थित संत तुलसी दास घाट के पास करतालिया बाबा मंदिर के निकट सीवर लाइन की खुदाई के दौरान कई फुट नीचे कई कमरों वाला मिला भोलेबाबा का शिव मंदिर मिला। मंदिर मिलने की सूचना मिलते ही मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। स्थानीय नागरिकों ने वहां पूजा पाठ शुरू कर दी।

अयोध्या में खुदाई के दौरान मिला कुछ ऐसा, पूजा की थाली लेकर दौड़े लोग

मिली जानकारी के मुताबिक आपको बता दे जैसे ही इस बात की जानकारी प्रशासन को मिली वैसी ही  खोदाई बंद करवा दी और मंदिर वाले स्थान पर बैरिकेडिंग करवा दी। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चुनावों के बीच किसी भी तरह की अफरातफरी से बचने के लिए प्रशासन ने इस मामले में सावधानी दिखाई। पर, इसी बीच कुछ युवाओं ने इसका विडियो बनाकर इसे वायरल कर दिया।

अयोध्या में खुदाई के दौरान मिला कुछ ऐसा, पूजा की थाली लेकर दौड़े लोग

बताया जा रहा है कि विडियो वायरल होते ही मौके पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। खुदाई के दौरान शिव मंदिर मिलने की जानकारी जिसे भी हुई, वह भागते हुए वहां पहुंचा। भीड़ उमड़ने के साथ ही लोगों ने पूजा-पाठ भी शुरू कर दिया। हालात बिगड़ता देख प्रशासन ने सख्ती करते हुए यहां मंदिर वाले स्थान पर बैरिकेडिंग कर खुदाई को तुरंत बंद करा दिया।

जानिए इस मामले में क्या है आश्रम के महंत राम दास

अयोध्या में खुदाई के दौरान मिला कुछ ऐसा, पूजा की थाली लेकर दौड़े लोग

जब मीडिया ने इस बारे में करतालिया आश्रम के महंत राम दास से पूछा तो उन्होंने  बताया कि सिद्ध पीठ करतालिया आश्रम के पीछे सीवर की खुदाई के दौरान एक बड़ी सी समतल जगह मिली. यह मंदिर की छत थी. जब जेसीबी के जरिये इसके ऊपर से मलबा हटाया गया तो छत टूट गई। जब   लोगों ने नीचे उतर कर देखा तो एक शिवलिंग मिला। इसके साथ घंटी, उसमें एक बाल्टी और एक त्रिशूल भी दिखाई दिया। फिर जब लोग नीचे उतरे तो उन्होंने देखा कि प्राचीन मंदिर से सटा हुआ एक कमरा भी है। स्थानीय संत शशिकांत दास का कहना है कि अयोध्या की राम नगरी बेहद प्राचीन है. शहरीकरण के कारण प्राचीन अयोध्या के कई अवशेष जमीन के नीचे दब गए हैं।

Back to top button