Top News
‘दुर्बला’ नहीं निर्मला : ताकतवर महिलाओं की लिस्ट में इंग्लैंड…अद्भुत : महिला ने कोमा में दिया बच्चे को जन्म,…‘रागिनी एमएमएस रिटर्न्स 2’ का ट्रेलर हुआ लॉन्च, VIDEO में…नोकिया 2.3 जल्द आएगा भारत, 400GB तक बढ़ा सकेंगे इसकी…IPL 2020: नीलामी के लिए शॉर्टलिस्ट हुए 332 खिलाड़ी, जानिए…झूठे प्यार का नाटक रचाकर अधिकारी के बेटे ने छात्रा…भारतीय युवा गेंदबाज राहुल चाहर ने अपनी प्रेमिया से की…अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वेस्टइंडीज के ऑल- राउंडर खिलाड़ी की हुई…70 के दशक की एक्ट्रेस मौसमी चटर्जी की बेटी का…विराट ने छक्का लगाकर गेंदबाज को ऐसे चिढ़ाया, एक मिनट…मौलवी ने मदरसे में किया जो महापाप, उसे खुदा भी…एक्सप्रेस-वे पर चलती कार बनी आग का गोला, अंदर बैठे…कलेजा हिला देगी खेत में गैंगरेप की ये वारदात, बेइंतेहा…BJP नेता विनय कटियार को फोन पर धमकी, बरेली में…VIDEO: ‘रेप इन इंडिया’ बयान पर BJP सांसदों का हंगामा,…शराब के नशे में पति बना जल्लाद, मारपीट में बाद…छात्रा को उठा लिए 2 दरिंदे, एक रौंदता रहा अस्मत,…गज़ब का लालच : अर्थी पर सजी बहन की लाश,…एक और रिकॉर्ड : T20I में वहां पहुंच गए विराट,…बिहार में सत्ताधारियों में संग्राम, नीतीश से पीके पूछ रहे…बॉलीवुड एक्ट्रेस से बोले ब्रावो- मुझसे शादी करोगी..ऐसा मिला जवाब…आदित्य संग ऐसे कपड़ों में नज़र आईं दिशा, फोटोज देख…यूपी की सरकारी गोशाला में ठंड से 12 गोवंशों की…दूसरों संग टिकटॉक बनाना न आया पसंद, बीवी और साली…जिम से निकली जाह्नवी को देख छोटे बच्चे ने बोली…1 तारीख से इन स्मार्टफोन्स पर नहीं काम करेगा WhatsApp,…बांदा की बच्चियों को अब नहीं कोई डर, फुल एक्शन…जो अखिलेश दे रहे महिलाओं की सुरक्षा के लिए धरना, उनके…दिल्ली के दरिंदों को मौत देने के लिए तैयार हैं…स्वामी ने सोनिया को लिया आड़े हाथ, खोल के रखा…हैदराबाद पुलिस के नक्शेकदम पर यूपी की खाकी, रेप के…इस बच्ची पर तंज कसते हुए सोचे न होंगे अमेरिकी…Video: छेड़खानी कर रहे मनचले को घेर ली खाकीवाली शेरनियां,…BJP विधायक ससुर की शिकायत लेकर पहुंची विधवा बहू, कायदे…जिस रोजगार योजना को सरकार बताई गेमचेंजर, उसमें नौकरियां हुईं…क्या कोहली तोड़ पाएंगे सचिन का ये रिकॉर्ड, सिर्फ 3…पासपोर्ट पर कमल देख संसद में उठा सवाल, विदेश मंत्रालय…20 साल के लड़के से 50 साल की शादीशुदा महिला…CAB विरोध में बागी होते जा रहे भाजपाई, रवि शर्मा…देवर संग अय्याशी में मां बन गई भाभी, अब बेटी…सानिया की बहन ने किया अजहर के बेटे से निकाह,…स्वीकार कर लिया अंकल सैम, हमारे ही F-16 को कबाड़…बहन ने ससुराल जाने का देखा था एक सपना, पूरा…जयपुर में कल दोपहर घुसा था जो पैंथर, अबतक नहीं…डोभाल जी ! शाह ने तो अपना काम कर दिया,…इकोनॉमी पर एक और बुरी खबर आई सरकार, अब तो…आजाद हिंदुस्तान में पहली बार, 4 फांसी होंगी एकसाथशुक्रवार को कर लें इनमें से कोई भी एक काम,…13 दिसम्बर राशिफल : सिंह राशिवाले आज अपनी वाणी पर…क्रिकेट प्रतियोगिता में शामिल हुए आशीष छाबड़ा, बेमेतरा विधायक ने…

मोदीराज में रेलवे भी रोया खून के आंसू, अब किस दावे से बहलाएगी सरकार ?

आर्थिक मोर्चे पर नाकाम मोदी सरकार के शासनकाल में अब भारतीय रेलवे भी बर्बादी की तरफ़ बढ़ता दिखाई दे रहा है। ख़बर है कि भारतीय रेलवे की कमाई 10 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है। इस बात का ख़ुलासा महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट से हुआ है।

कैग की रिपोर्ट के मुताबिक, रेलवे का परिचालन अनुपात (ऑपरेटिंग रेशियो) वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 प्रतिशत पर पहुंच गया है। जिसका मतलब यह है कि रेलवे को 100 रुपये कमाने के लिए 98.44 रुपये खर्च करने पड़े हैं। इस आंकड़े को आप इस तरह समझ सकते हैं कि रेलवे अपने तमाम संसाधनों से 2 फीसदी पैसे भी नहीं कमा पा रहा है।

साल दर साल ऑपरेटिंग रेशियो

कैग के आंकड़ों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2008-09 में रेलवे का परिचालन अनुपात 90.48 फीसदी 2009-10 में 95.28 फीसदी, 2010-11 में 94.59 फीसदी, 2011-12 में 94.85 फीसदी, 2012-13 में 90.19 फीसदी 2013-14 में 93.6 फीसदी, 2014-15 में 91.25 फीसदी, 2015-16 में 90.49 फीसदी, 2016-17 में 96.5 फीसदी  और 2017-18 में 98.44 फीसदी तक पहुंच चुका है।

कैग ने कहा कि रेलवे का खाता 1,665.61 करोड़ रुपए के अधिशेष के बजाए 5,676.29 करोड़ रुपए के नेगेटिव बैलेंस के साथ समाप्त होता, लेकिन उसे एनटीपीसी और इरकॉन से एडवांस प्राप्त हो गया है। यदि इस एडवांस को शामिल ना किया जाए तो संचालन औसत 102.66 फीसदी पर पहुंच जाता।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय रेलवे पैसेंजर और अन्य कोच सेवा पर आ रही संचालन लागत के अनुसार कमाई नहीं कर पा रहा है। वह अपने फ्रेट ट्रैफिक से होने वाली कमाई का 95 फीसदी मुनाफा पैसेंजर और अन्य कोच सेवाओं से होने वाले नुकसान की भरपाई में इस्तेमाल कर रहा है।

कैग की रिपोर्ट में इस संकट से निपटने के लिए कुछ सिफारिशें भी की गई है। रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि रेलवे को इंटरनल रेवेन्यू (IR) बढ़ाने के लिए उपाय करने चाहिए ताकि सकल और अतिरिक्त बजटीय संसाधनों पर निर्भरता रोकी जा सके। इसमें सिफारिश की गई है कि चालू वित्त वर्ष के दौरान रेल द्वारा वहन किए गए पूंजीगत व्यय में कटौती हुई है।

Share this post

scroll to top