ट्रैक पर प्रदर्शन कर रहे थे किसान, तभी हाई स्पीड में आई ट्रेन…और फिर

किसान यूनियन के रेलवे ट्रैक पर धरना देने के दौरान एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया. लोग उस वक्त बाल-बाल बच गये जब हाई स्पीड में आ रही ट्रेन को इमरजेन्सी ब्रेक लगाकर रोक दिया गया.घटना थाना सदर बाजार के गोविन्द गंज रेलवे फाटक की है.

बाल-बाल बचे किसान

आरपीएफ के कमांडेंट एस.पी. सिंह ने शनिवार को बताया “भारतीय किसान यूनियन से जुड़े सैकड़ों किसान शुक्रवार को रेलवे विभाग को बिना सूचना दिए सदर बाजार थाना क्षेत्र के गोविंदगंज रेलवे फाटक में अचानक रेलवे पटरी में धरना देने लगे थे, उसी समय कलकत्ता-जम्मूतवी एक्सप्रेस से आ गई थी. लेकिन चालक ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया, जिससे बड़ा हादसा टल गया. यदि चालक ब्रेक लगाने में असफल होता तो दर्जनों किसानों की मौत हो सकती थी. किसान पिछले 24 दिनों से उपजिला अधिकारी सदर को हटाने की मांग को लेकर धरना दे रहे हैं, शुक्रवार को किसानों ने जबरन दो ट्रेनें रोक ली थी.”

उन्होंने बताया कि थाना पुलिस को किसानों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए लिखा गया है, यदि पुलिस कुछ नहीं करती, तब रेलवे विभाग रेलवे एक्ट की धारा-174 के तहत मुकदमा दर्ज कराएगा.

24 दिनों से धरने पर बैठे थे किसान

गौरतलब है कि किसान यूनियन के लोग यहां 24 दिनों से धरने पर बैठे थे और आज उन्होंने रेल रोको आन्दोलन छेड़ दिया. किसान यूनियन यहां एसडीएम के खिलाफ रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठे गए थे. फिलहाल, एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रेलवे ट्रैक को खाली कराया जा सका. वही आरपीएफ किसान यूनियन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की बात कर रही है.