चिदंबरम और बेटे के ठिकानों पर ED की छापेमारी, किचन भी नहीं छोड़ा

प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार अलसुबह पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ती चिदंबरम के ठिकानों पर छापेमारी की. बताया जा रहा है कि यह रेड आईएनएक्स मीडिया से जुड़े मनी लॉडरिंग केस के संबंध में की गयी है. इस मामले में एजेंसी ने कार्ती चिदंबरम को 16 जनवरी को पेश होने का नोटिस जारी किया है.इससे पहले एक दिसंबर को छापामारी हुई थी. छापे टेलिकॉम घोटाले के एयरसेल-मैक्सिस केस के मामले में मारे गए. आरोप है कि पूर्व टेलिकॉम मिनिस्टर दयानिधि मारन के भाई की कंपनी सन टीवी नेटवर्क के जरिए कई फर्म्स को पैसा ट्रांसफर किया गया. इनमें कार्ति चिदंबरम की भी कंपनियों के नाम हैं.

चिदंबरम के किचन की तलाशी

दरअसल, पी चिदंबरम के घर पर शनिवार सुबह ED के 5 ऑफिसर मौजूद थे. जिस वक्त ED की छापेमारी चल रही थी उस दौरान पी चिदंबरम और कार्ति घर पर मौजूद नहीं थे. चिदंबरम ने बताया कि चेन्नई में छापेमारी अपेक्षित थी, लेकिन ये हास्यास्पद है कि वे दिल्ली के जोरबाग स्थित घर पर रेड मारने आ गए. चिदंबरम के मुताबिक अधिकारियों को लगा कि कार्ति जोरबाग स्थित घर में हैं, लेकिन ऐसा नहीं है और कार्ति को घर में ना पा कर अधिकारी घबरा गए. ईडी अधिकारियों ने चिदंबरम के कमरों और किचन की तलाशी ली.

ED को जांच करने का अधिकार नहीं

Advertisement

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि ईडी अधिकारियों ने छापा मारा और उन्हें कुछ नहीं मिला, लेकिन खुद को सही साबित करने के लिए वे कुछ पेपर्स ले गए हैं. चिदंबरम ने बताया कि वे जांच में पूरा सहयोग कर रहे हैं, लेकिन प्रवर्तन निदेशालय को PMLA (प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट) के तहत जांच करने का अधिकार नहीं है.

advt