योगी की पुलिस का ‘ऑपरेशन क्लीन’ जारी, नोएडा और हापुड़ में एनकाउंटर

उत्तर प्रदेश में अपराधियों के ऊपर लगातार हो रही कार्रवाई से प्रदेश की कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त होने लगी है.उत्तर प्रदेश से बदमाशों के सफाये के लिए योगी सरकार ने पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं, जिसके तहत यूपी पुलिस ने ‘ऑपरेशन क्लीन’ चला रखा है. सीएम योगी के निर्देश के बाद पिछले साल 2017 में पुलिस ने मुठभेड़ में 895 एनकाउंटर किये थे. वहीं 26 को मार गिराया था और 196 अपराधी गोली लगने से घायल हुए. सीएम योगी ने साफ कहा है कि निर्दोषों को छेड़ेंगे नहीं और दोषियों को छोड़ेंगे नहीं. सीएम के इसी निर्देश पर कार्रवाई करते हुए पुलिस अपराधियों पर कहर बनकर टूटी है.

योगी की पुलिस का ‘मिशन क्लीन’ जारी

ऐसा ही एक मामला नोएडा और हापुड़ से सामने आया है. जहां पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई. मुठभेड़ में पुलिस ने 2 बदमाशों को गोली से घायल कर दिया, जबकि एक पुलिसकर्मी घायल हो गया.इस दौरान पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आजाद, विकास व संजू तीनों बागपत के रहने वाले हैं. आजाद व विकास दोस्त हैं और संजू विकास का जीजा है. दोनों दोस्त संजू के गढ़ी चौखंडी स्थित घर में बीच-बीच में आते हैं. इन तीनों ने ही उमेश बिज से रंगदारी मांगी थी. घटना की रात अरविंद उद्यमी की मुखबिरी कर रहा था. संजू फैक्ट्री के गेट पर खड़ा था. आजाद व विकास फैक्ट्री से कुछ दूर आगे था. जब उद्यमी अपनी बेटी व चालक के साथ निकले तो उसने संजू को बताया.

संजू ने आजाद व विकास से संपर्क किया और उनकी कार पर फायरिंग हुई और वे फरार हो गये. लेकिन फेज टू कोतवाली के प्रभारी शावेज खान सेक्टर-80 के पास चेकिंग कर रहे थे, तभी बाइक सवार तीन युवकों को रुकने का इशारा किया. इस पर बाइक सवार बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए कई राउंड फायर किए. इसमें बाइक सवार दो बदमाशों गढ़ी चौखंडी निवासी आजाद व विकास को गोली लग गई. संजू बाल बाल बच गया. घायल बदमाशों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. संजू से पुलिस पूछताछ कर रही है.