क्राइम

7 महीनों से बॉस अटकाए था पगार, 7 कर्मचारियों ने वसूली का निकाला ये जुगाड़

हर कर्मचारी महीने की पहली तारीख को अपनी सैलरी आने का इंतजार करते है, वहीं कुछ कंपनियां सैलरी में देरी करके उन्हें नाउम्मीद कर देती है, जिससे उनका धैर्य टूट जाता है और जिसके परिणाम कई बार बुरे भी देखने को मिलते है. कर्नाटक से भी कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है.

सैलरी न मिलने से नाराज एक प्राइवेट कंपनी के कर्मचारियों ने बॉस को ही अगवा कर लिया. पुलिस ने इस मामले में चार लोगों कर्मचारियों को अरेस्ट किया है. पुलिस के मुताबिक, सुजयनाम का शख्स बेंगलुरू के हलासुरु इलाके में एक निजी कंपनी चलाता है. कर्मचारियों का आरोप है कि उसने बीते सात महीने से उनकी सैलरी नहीं दी थी. जिसके बाद उन्होंने उसे बॉस को किडनैप कर लिया.

इतना ही नहीं इस दौरान कर्मचारियों ने बॉस के साथ मारपीट भी की. कंपनी मालिक सुजय को तभी छोड़ा गया जब उन्होंने बकाया सात महीने की सैलरी जल्द से जल्द देने का वादा किया. सुजय जब उनके चंगुल से छूट पाया तब जाकर हलासुरु पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई.

शिकायत के बाद बेंगलुरु पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सात में से चार आरोपियों राकेश, निरंजन, संजय और दर्शन को गिरफ्तार किया है. बाकी तीन आरोपियों की पुलिस अभी तलाश कर रही है.

पुलिस के मुताबिक सुजय (23) हलासुरु इलाके में एक निजी कंपनी चलाते हैं. आरोप है कि उन्होंने अपनी कंपनी के कर्मचारियों को सात महीने से सैलरी नहीं दी थी. 21 मार्च को कंपनी के सात कर्मचारियों ने सुजय को अगवा कर लिया. इसके बाद सुजय को वे लोग अपने एक दोस्त के कमरे पर ले गए. आरोप है कि कर्मचारियों ने सुजय के साथ मारपीट भी की. इस दौरान आरोपी कर्मचारियों ने उनसे अपनी तनख्वाह की डिमांड की.

 

Back to top button