कैंसर के इन लक्षणों को कभी न करें अनदेखा, वरना जान बचना मुश्किल

0
25

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका अपनी वेबसाइट पर। आपसे निवेदन है कि आपने अभी तक हमारे फेसबुक पेज को लाइक नहीं किया हो तो कृपया उसे लाइक जरूर कर ले ,क्यूंकि यंहा हम आपके लिए राजनीति ,मनोरंजन ,और ज्ञान बर्धक जानकारी बाली पोस्ट लाते रहते है। तो आइये सुरु करते है हमारा आज का टॉपिक।

दोस्तों हमारा सरीर बहुत सारी कोशिकाओं से मिलकर बनता है। और सरीर की मांग के अनुरूप यह कोशिकाएं अक्सर बढ़ती और घटती रहती है। परन्तु कुछ कोशिकाए हमारी कुछ अनजान गलतियों की बजह से बेबजह ही बढ़ती रहती है। और इन्ही बढ़ती हुई कोशिकाओं को आम भाषा में कैंसर कहते है। लेकिन दोस्तों आपकी जानकारी के लिए एक बात बता दे कि जब भी हमारे सरीर में यह अनजान कोशिकाए बढ़ने लगती है। तो हमारे सरीर में अजीव तरह के परिबर्तन होते है और इन कोशिकाओं के बढ़ने के लक्षण नजर आने लगते हैं। परन्तु आम तौर पर इन्ही लक्षणों को आम इंसान नजरअंदाज कर देता है। और इसी बजह से भविष्य में इंसान कैंसर जैसी गंभीर वीमारी का शिकार हो जाता है।

source

तो दोस्तों आइये जानते है की ऐसे कौन से बह लक्षण होते है। जिन्हे समय रहते अगर हम देख ले और डॉक्टर्स की सलाह के अनुरूप उनका उपचार करा ले तो कैंसर जैसी गंभीर विमारियो से भी आज के दौर में बचा जा सकता है। दोस्तों आपसे निवेदन है की इस पोस्ट को अपने दोस्तों में भी शेयर जरूर करे जिससे बह भी इस जानकारी से खुद को अबगत करा सके।

कैंसर होने के शुरूआती लक्षण:-

1-खून की उल्टी ( vomit blood )

दोस्तों डॉक्टर्स के अनुसार जिस भी इंसान को कैंसर के लक्षणों का पता चलता है। तब तक उसके लिए बहुत देर हो चुकी होती है। और ऐसे मैं इंसान उस समय खून की उल्टिया कर रहा होता है। और बताया जाता है यह स्टेज कैंसर की बहुत ज्यादा खतरनाक होती है। तो जब भी गले मैं किसी तरह की खरांश या दिनचर्या में कोई भी अजीब परिबर्तन हो तो तुरंत डॉक्टर्स से सम्पर्क करना चाहिए।

2-पेशाब में खून ( Blood in urine )

डॉक्टर्स बताते है की अक्सर देखा जाता है की कैंसर के मरीजों में पेशाब करते बक्त एक अजीब तरह की जलन का सामना करना पड़ता है। और कभी कभी तो मरीज को पेशाब के साथ ही खून भी आने लगता है। और इस तरह के लक्षणों के दिखने पर तुरंत डॉक्टर्स से सम्पर्क कर लेना चाइये। क्यूंकि यह कैंसर के शुरुआती लक्षण भी हो सकते है।

3-लाल दाने ( Red rash )

अक्सर देखा जाता है की किसी किसी मरीज के सरीर पर अजीब तरह के दाने निकल आते है ,लेकिन इन्हे हम अक्सर आम दाने समझ कर भूलने की कोसिस करते है। मगर यह दाने खतरनाक साबिक हो सकते है। अक्सर देखा गया है की यह दाने बड़े ही लाल कलर में दीखते है। और इन दानो में अक्सर बहुत ज्यादा जलन होने लगती है और कभी कभी तो इन्ही दानो के अंदर गांठे भी बन जाती है और यह ही कैंसर का एक तरह का पहला लक्षण भी हो सकता है। तो आपको सलाह है की किसी भी तरह के दानो के लिए तुरंत डॉक्टर्स की सलाह पर इलाज करना चाहिए जिससे कैंसर से खुद को बचाया जा सकता है।

source

4- महिला ब्रेस्ट कैंसर ( Female breast cancer )

एक तरह का कैंसर इन दिनों बहुत ज्यादा ही मात्रा में महिलाओ में फ़ैल रहा है। इसे आम भाषा मैं ब्रेस्ट कैंसर कहा जाता है। महिलाओ को होने बाले कैंसर मैं यह आम होता है। इस तरह के कैंसर मैं महिलाओ की छाती (वीमेन ब्रैस्ट ) पर मौजूद बछ पर मौजूद निप्पल बाली जगह पर अजीब तरह की कठोरता उत्पान होने लगती है। इसमें अक्सर देखा गया है की निप्पल के पीछे छिपी हल्की गाँठ कठोर होने लगती है और उसे दबाने पर बहुत तेज मात्रा में दर्द का अनुभब होता है। इस तरह के लक्षण अगर महिलाओ को दिखे तो तुरंत डॉक्टर्स से सम्पर्क करे ,और इनसे बचने के लिए महिलाओ को अपने निप्पल को कुछ समय अंतराल के बाद दबा कर देखते रहना चाइये कि कंही कोई अजीब दर्द बाली गांठ तो नहीं बन रही है। जिससे समय रहते महिलाए इस गंभीर ब्रेस्ट कैंसर से खुद को बचा सके।

5-वजन कम होना ( Lose weight )

अक्सर देखा गया है की जिस इंसान के सरीर मैं कोशिकाए बनना बंद कर देती है या फिर जरूरत से ज्यादा बन जाती है। जो की धीरे धीरे कैंसर का रूप अख्तियार करने के लिए तैयार होने लगती है। उस तरह के इंसान को भूख बहुत कम लगने लगती है। और बह जो कुछ भी खता है उसके शरीर में नहीं लगता है और उसका अचानक से बजन कम हो जाता है। और यह कैंसर के शुरुआती लक्षणों मैं से एक होता है। और ऐसे मरीजों को हर जगह एक अजीब तरह की बदबू लगने लगती है। जो की उनके मुंह से ही खुद व खुद आने लगती है। ऐसे मैं तुरंत डॉक्टर्स के पास जाकर उनसे सलाह लेनी चाहिए।

source

6-बेहोश होना ( to faint )

अक्सर देखा गया है की इंसान की कोशिकाए बहुत तेजी से बनने लगती है। जैसे की उसको चलते चलते चक्कर आने लगते है। थोड़ी धूप लगने पर उसके सामने अँधेरा आने लगता है। या फिर भागते समय बेहोश हो जाना और तैराकी करते समय बेहोश हो जाना यह सब लक्षण कैंसर के ही होते है इस परिस्थिति में तुरंत डॉक्टर्स से परामर्श लेना चाहिए।

source