बिहारराजनीति

लालू को डबल झटका: रघुवंश प्रसाद ने पार्टी उपाध्यक्ष पद छोड़ा, 5 एमएलसी ने जेडीयू का थामा हाथ

पटना
राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) को एक और बड़ा झटका लगा है। मंगलवार को पहले तो पार्टी के पांच विधानपार्षद जेडीयू में चले गए फिर पार्टी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। रघुवंश प्रसाद सिंह फिलहाल कोरोना से पीड़ित हैं और वे पटना एम्स में इलाजरत हैं। बताया जा रहा है कि रघुवंश प्रसाद सिंह समेत पार्टी के कई बड़े नेता बाहुबली रामा सिंह को पार्टी में शामिल कराये जाने को लेकर नाराज हैं। ऐसे में रघुवंश प्रसाद सिंह समेत पार्टी के कई बड़े नेता भी आने वाले मसय में आरजेडी को छोड़ सकते हैं।

बता दें कि बिहार बीजेपी विधान मंडल दल के नेता सुशली कुमार मोदी पहले कह चुके हैं कि रघुवंश बाबू अच्छे व्यक्ति हैं, लेकिन गलत पार्टी में हैं। सुशील मोदी ने काफी समय पहले ही रघुवंश प्रसाद सिंह को एनडीए में आने का निमंत्रण दे चुके हैं।

इन पांच विधान पार्षदों ने थामा जेडीयू का दामन
इससे पहले आरजेडी छोड़ने वाले पार्षदो में एमएलसी संजय प्रसाद, कमरे आलम, राधाचरण सेठ, रणविजय सिंह और दिलीप राय के नाम शामिल हैं। बता दें कि ये सभी पहले से ही तेजस्वी यादव और पार्टी के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं। कुछ दिन पहले ही बिहार सरकार के भवन निर्माण मंत्री और जेडीयू नेता अशोक चौधरी ने दावा किया था कि आरजेडी के कई विधायक पाला बदलने को तैयार बैठे हैं।

लालू को छोड़ नीतीश पर किया विश्वास
आरजेडी छोड़ने वाले पांचो विधान पार्षद के जेडीयू का दामन थामने के बाद यह कहा जा रहा है कि अभी कई विधायक और है जो आरजेडी छोड़ सकते हैं। बता दें कि जेडीयू और बीजेपी की ओर से लगातार यह दावा किया जा रहा था कि चुनाव के पहले ही आरजेडी के कई विधायक पाला बदल कर उनकी तरफ आ सकते हैं। सत्तारूढ़ दल के नेताओं ने यहा तक दावा किया है कि आरजेडी के ज्यादातर विधायक तेजस्वी के नेतृत्व से नाराज हैं और वे कभी भी पार्टी छोड़ सकते हैं।

Back to top button