प्यार में नाकाम आशिक अभी पता नहीं कितनो की जान लेगा ! लोगो की सुरक्षा राम भरोसे

0
52

बिजनौर। सीरियल किलर के आतंक से जनपद बिजनौर इस समय थर्राया हुआ है चार दिन में लोमहर्षक तरीके से भाजपा नेता के पुत्र व भतीजे और उसके बाद पूर्व एयर होस्टेस की हत्या ने बिजनौर पुलिस के तमाम दावों की पोल खोल दी है। पिछले तीन दिनो से थाना स्योहारा क्षेत्र के जंगलों में एसपी संजीव त्यागी द्वारा सीरियल किलर की तलाश में नाकाम कांम्बिग के बाद आम व्यक्ति जहां दहशत में है वहीं योगी सरकार की भी बिजनौर पुलिस खूब किरकिरी करा रही है जबकि सीरियल किलर फिलहाल पुलिस की पकड़ से कोसों दूर है। उधर आईजी ने सीरियल किलर पर पचास हजार का ईनाम घोषित कर दिया है। यदि शीघ्र ही सीरियल किलर अश्वनी उर्फ जाॅनी को जल्द पुलिस ने गिरफ्तार नही किया तो एसपी संजीव त्यागी पर इसकी गाज गिर सकती है।

योगी सरकार में पुलिस की नाकामी और नाकरापन की मिसाल इस समय बिजनौर पुलिस बनी हुई। एसपी संजीव त्यागी को खुला चैलेंज देते हुए बढ़ापुरिया छोरे अश्वनी उर्फ जाॅनी ने बीती 26 सितम्बर को थाना बढापुर के मोहल्ला नौमी निवासी भाजपा नेता भीम सिंह कश्यप के पुत्र चन्द्रभूषण उर्फ राहुल व भतीजे कृष्णा पुत्र नरेश को दिनदहाड़े मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं सीरियल किलर अश्वनी उर्फ जाॅनी ने पुलिस की नाकामी और नाकरापन का फायदा उठाते हुए स्योहारा थाने के सामने से ही गुजरते हुए पुलिस के मुखबिरों और बिजनौर के लचर खुफिया तंत्र को धता बताते हुए फिर से 30 सितम्बर को पूर्व एयर होस्टेस नितिका को छह गोलियां मारकर मौत की नींद सुला दिया। सीरियल किलर के इस खूनी खेल से यह साफ हो गया कि नाकारा बिजनौर पुलिस योगी सरकार द्वारा सुरक्षित व अपराधमुक्त प्रदेश के दावों को धता बताने में लगी है।

बिजनौर में फ्लाॅप साबित हो रहे एसपी संजीव त्यागी ने 21 थानो की पुलिस के साथ सीरियल किलर जाॅनी की तलाश में पिछले तीन दिनो से जंगल में काॅम्बिंग कर रखी है लेकिन उनके हाथ कुछ भी नहीं लग सका इतना ही नही पुलिस के ड्रोन व डाॅग स्क्वाॅड भी हाॅफने लगे हैं। हैरत की बात यह है कि मामूली बढ़ापुरिया छोरे अश्वनी उर्फ जाॅनी जिसका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है उसके द्वारा  पुलिस को लगातार छकाने से खुफिया तंत्र के साथ साथ पुलिस की मुखबिर व्यवस्था की भी पोल खुल गई है। सीरियल किलर के भूमिगत होने से जनपद के लोग भी दहशत के साये में जी रहे है पता नही सीरियल किलर की अगली गोली का निशाना कौन होगा। क्यांेकि बिजनौर पुलिस के नाकारापन का लाभ एक बार फिर सिरफिरा सीरीयल किलर जाॅनी उठा सकता है।

लेकिन सात दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस जाॅनी का कुछ भी सुराग नहीं लगा पाई है। हालांकि आईजी जोन रमित शर्मा ने अश्वनी उर्फ जाॅनी पर पचास हजार का ईनाम घोषित कर दिया है उनका कहना है कि आरोपी पकडने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे है पुलिस के अलावा आरआरएफ की टीम को भी लगाया गया है जल्द ही इसका नतीजा दिखाई देगा। उधर लखनऊ में बैठे आला अधिकारी भी इस सनसनीखेज वारदात को लेकर बिजनौर पुलिस से काफी नाराज़ है इस संबन्ध में पल पल की रिपोर्ट ले रहे है यदि शीघ्र ही सीरियल किलर अश्वनी उर्फ जाॅनी को पुलिस ने गिरफ्तार नही किया तो एसपी संजीव त्यागी पर इसकी गाज गिर सकती है क्योंकि एसपी संजीव त्यागी के कार्यकाल में पूर्व में भी कई बडी ऐसी वारदात हो चुकी है जिससे सरकार की खूब किरकिरी हुई है।

टिकटॉक पर एक्टिव है आरोपी

छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि जॉनी टिकटॉक पर भी काफी चर्चित है। उसने भाजपा नेता के बेटे और भतीजे की हत्या करने से पहले फेसबुक पर एक टिकटॉक वीडियो डाला था। जिसमें उसने साफ कहा था कि जिस को मारना है, उसको मारना है। वह चाहे कहीं भी जाकर छुप जाए. इस तरह की कई पोस्ट उसके फेसबुक पर हैं।

मर्डर से पहले फेसबुक पर डाली थी पोस्ट

उसने फेसबुक पर अपने खई ऐसे फोटो पोस्ट किए हैं, जिनमें वह एक शातिर बदमाश और डॉन के रूप में अपने आप को प्रदर्शित कर रहा है. बिजनौर के एसएसपी संजीव त्यागी ने बताया कि 5 दिन में अपनी प्रेमिका सहित 3 लोगों की हत्या करने वाले सीरियल किलर जॉनी पर 50 हजार का इनाम घोषित कर दिया गया है।