सोते समय जिसने की ये गलती, वो बड़ी कीमत चुकाएगा पूरी जिंदगी

0
23

अक्सर ऐसा कहा जाता है कि कभी -कभी बहुत छोटी सी चीज भी हमारे जीवन में बहुत भारी पड़ जाती है। और वह हमें इतना परेशान कर देती है कि जिस की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। वहीं जीवन में भरपूर नींद लेना सेहत के लिए काफी जरूरी माना जाता है। सारा दिन काम करने के बाद रात में पूरी दिन लेने से थकान दूर होती है। और शरीर में फूर्ति बरकरार रहती है। अक्सर देखा जाता है, कि रात को सोते समय कई लोग ऐसी गलतियां करते हैं जिनका उनकी स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ने लगता है। इन्हीं में से एक गलती है पेट के बल सोने की। कई लोगों की पेट के बल सोने की आदत होती है। लेकिन यह आदत धीरे-धीरे हेल्थ प्रॉब्लम्स भी पैदा करने लगती है।

डॉक्टरों के अनुसार, पेट के बल सोने से बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन सही तरीके से नहीं हो पाता है। साथ ही इस पोजिशन से बॉडी पॉश्चर नेचुरल तरीके से नहीं रह पाता है जिसका बॉडी पर बुरा असर पड़ने लगता है। अगर सही समय पर इस आदत में सुधार लाया जाए तो कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स से बचा जा सकता है। ऐसा हर रोज करने से व्यक्ति को कई तरह की शारीरिक और स्वास्थ्य की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उसे कई तरह की स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियाँ हो जाती है। आज हम आपको पेट के बल सोने से होने वाले 6 नुकसानों के बारे में बताने जा रहे हैं। इसलिए अगर आपकी भी आदत पेट के बल सोने की है तो उसे आज ही बदल दें।

पेट के बल सोने से होने वाले नुकसान:

पेट के बल सोने वालों की गर्दन मुडी रहती है। इससे गर्दन की मांसपेशियों में खिंचाव होता है और खून का संचार भी सही तरीके से नहीं हो पाता है। ऐसे में गर्दन दर्द की समस्या उत्पन्न हो जाती है। साथ ही हर रोज रात को पेट के बल सोने से व्यक्ति की कमर और पीठ में भी दर्द होने लगता है। पेट के बल सोने से रीढ़ की हड्डी अपनी प्राकृतिक अवस्था में नहीं रहती है, जिससे दर्द की समस्या होने लगती है।

रात को जो लोग पेट के बल सोते हैं, उनकी गर्दन मुड़ जाती है। गर्दन मुड़ने की वजह से खून का संचार सर तक नहीं हो पाता है। सही मात्रा में सर को खून ना मिलने की वजह से सर दर्द की समस्या शुरू हो जाती है। पेट के बल सोने वाले लोगों की हड्डियाँ सही स्थिति में नहीं रहती हैं। इससे जोड़ों में दर्द की भी सम्भावना बनी रहती है।

पेट के बल सोने वाले लोगों का चेहरा पूरी रात दबा रहता है। इस वजह से चेहरे की स्किन को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन नहीं मिल पाता है। ऐसे में चेहरे की कई समस्याएँ होने लगती हैं। चेहरे पर मुंहासे और झुर्रियाँ होने लगती हैं। पेट के बल पूरी रात सोने से खाना सही तरीके से पच नहीं पाता है। इससे व्यक्ति की पाचन क्रिया पर बुरा असर पड़ता है।

एक रिसर्च के अनुसार, बायीं करवट और पीठ के बल सोना हेल्थ के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। बायीं करवट सोने से हार्ट तक ब्लड की सप्लाई प्रॉपर तरीके से होती है। इससे हार्ट को हेल्दी रखने में मदद मिलती है। बायीं करवट सोने से लेफट साइड में स्थित एंजाइम बनाने वाले पेन्क्रियाज का फंक्शन बेहतर होता है। इससे खाना सही तरीके से डाइजेस्ट करने में मदद मिलती है।