BCCI नेे नहीं सुनी क्रिकेटर्स की फरियाद, खारिज हुई पत्नियों वाली डिमांड

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेटरों द्वारा पत्नियों को लेकर बीसीसीआई के सामने रखी गई मांग को खारिज कर दिया गया है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त क्रिकेट प्रशासकीय कमेटी (CoA) ने इंडियन क्रिकेटरों की इस मांग को खारिज किया. कमेटी ने खिलाड़ियों की उस मांग को खारिज किया है, जिसमें खिलाड़ियों ने मांग की थी कि उनकी पत्नियों के लिए बोर्ड अलग से मैनेजर की नियुक्ति करे.

प्रसाशकीय कमेटी ने क्रिकेटरों की मांग को खारिज किया

Advertisement

दरअसल, भारतीय क्रिकेटरों की मांग थी कि उनकी पत्नियों के लिए बीसीसीआई अलग से मैनेजर नियुक्त करे. खिलाड़ियों की इस मांग को बीसीसीआई ने एक प्रपोजल के तौर पर सीओए के सामने रख. जिसे कमेटी ने ठुकरा दिया है. टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने बीसीसीआई के सामने मांग रखी थी कि उनके साथ टूर पर मौजूद पत्नियों के लिए एक मैनेजर नियुक्त किया जाए. सीओए ने इसे मानने से इनकार कर दिया.

advt

 

टीम इंडिया के द. अफ्रीका दौरे पर खिलाड़ियों के साथ है पत्नियां

आपको बता दें कि इस वक्त टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका दौरे पर है. जहां टीम के अधिकतर खिलाड़ियों के साथ उनकी पत्नियां भी मौजूद हैं. टीम के कप्तान विराट कोहली की पत्नी अनुष्का शर्मा अपने वापस भारत लौट आई हैं, लेकिन रोहित शर्मा की पत्नी रितिका सजदेह, शिखर धवन की पत्नी आएशा धवन, भुवनेश्वर कुमार की पत्नी नुपुर नागर, मुरली विजय की पत्नी नितिका, ऋद्धिमान साहा की पत्नी रोमी और अजिंक्ये रहाणे की पत्नी राधिका धोपवाकर केप टाउन में उनके साथ हैं.

बोर्ड ने दो हफ्तों की दी है इजाजत

हालांकि क्रिकेटरों ने पत्नियों को साथ ले जाने की बोर्ड से इजाजत ली है. बोर्ड ने सभी खिलाड़ियों की पत्नियों को केवल दो हफ्ते के लिए अपने पतियों के साथ रहने की इजाजत मिली है जो न्यूलैंड्स टेस्ट के साथ ही खत्म हो रही है.

पहले टेस्ट में भारत को मिली हार

वहीं मैच की बात की जाए तो 208 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया दूसरी पारी में महज 135 रनों पर सिमट गई, मैच के चौथे दिन कुल 64 ओवर के खेल में 18 विकेट गिरे. टीम इंडिया की ओर से आर अश्विन ने सर्वाधिक 37 रन बनाए और आठवें विकेट के लिए 49 रनों की सर्वाधिक साझेदारी की.