यहां दुल्हन भगा कर शादी करने का है रिवाज़, पकड़े जाने पर मिलती है खतरनाक सजा

कर कपल की यही आरजू होती है कि उसकी लव लाइफ में कभी कोई प्रोब्लम न हो. उसे बस यही चाहिये कि जिससे वो प्यार करे उससे ही उसकी शादी भी हो. हमारे इंडिया में तो कई रिवाजों से शादी होती है को बंगाली है तो उसकी शादी का तरीका कुछ और अगर कोई पंजाबी है तो उसकी शादी का तरीका कुछ और.

लेकिन आज हम शादी के जिस तरीके की बात करने जा रहें है उसके बारे में सुन कर आप हैरान रह जायेंगे. दरअसल ये तरीका है भाग कर शादी करने का रिवाज़. अब आप सोच रहे होंगे ये कैसा रिवाज़ है.

तो बता दें हिमाचल के लाहौल स्पीति में केलौंग नाम की एक कबीलाई समाज में इस तरीके से शादी करने का रिवाज है, वो भी 15 अगस्त को. 15 अगस्त को देश की आजादी मनाने के साथ-साथ यहां अपनी पसंद का वर-वधू चुनकर उससे शादी करने की आजादी होती है…

इस दिन मेले में होती है शादी 

यहां 15 अगस्त को एक मेला लगता है. इस मेले की खास बात है कि यहां पर प्यार करने वाले लड़के-लड़कियां अपनी पसंद का पार्टनर चुनते हैं. इतना ही नहीं यहां पर मेले में आये प्रेमी जोड़े एक-दूसरे के साथ भाग जाते हैं और परिवार वालों को उनकी शादी मंजूर करनी पड़ती है.

इस समाज में है ये परंपरा

बताया जाता है कि इस मेले की यह परम्परा काफी समय से चली आ रही है. जिसमें कबीलाई समाज के लोग भागकर शादी करते आये हैं. लोगों ने 15 अगस्त को इस तरह की शादी के लिये उचित दिन माना है. इस दिन यहां कई लड़के-लड़कियों के गुम होने की खबरें आती हैं.

अगर भागने में हुए फेल तो मिलती है सजा

हम इससे जुड़ी एक और बात आपको बताना चाहते हैं कि अगर कोई जोड़ा साथ में भागा है और वह इस मेले में पहुंचने से पहले पकड़ा जाता है तो उन्हें सजा दी जाती है. यहां के लोगों के मुताबिक जब कोई लड़का-लड़की को लेकर भागते हुए पकड़ा जाता है तो मेले की भीड़ लड़के को पीटती है और लड़की के माता-पिता को शादी से इनकार करने की छूट मिल जाती है. क्योंकि ये लोग भागने में सफल नहीं हुए है.