धर्मेंद्र ना करते बेवफाई तो इस एक्‍ट्रेस की जिंदगी न होती बर्बाद, नशे में डूबी रहती थी दिन-रात

0
11

फिल्‍म जगत की बात करें तो आए दिन आपको कई सारी ऐसी खबरें सुनने को मिलती है जो हैरान कर देने वाली होती है। यहां की दुनिया बेहद ही चकाचौंध भरी होती है और यहां के स्‍टार्स की लाइफ स्‍टाइल भी काफी हाइफाइ होती है ये तो हम सभी जानते हैं। यही कारण है कि यहां आए दिन अफेयर और ब्रेकअप की खबरें पहले से ही सुनने को मिलती रहती थीं आज भी ये सब इस रंगीन दुनिया के लिए आम बात है। लेकिन आज हम आपको बॉलीवुड से जुड़े एक ऐसे ही एक्टर और एक्ट्रेस के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके बारे में जानकर आपको भी हैरानी होने वाली है।

जी हां आज हम आपको एक एक्ट्रेस के बारें में बताने जा रहे हैं जो धर्मेंद्र से करती थी उनका प्‍यार इतना ज्‍यादा था कि उन्‍होंने धर्मेंद्र की बेवफाई के बाद शराब पीना शुरू कर दिया था। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ट्रेजडी क्वीन’ नाम से मशहूर अभिनेत्री मीना कुमारी ऐसी अभिनेत्री थीं, जिनके साथ हर कलाकार काम करने को बेताब रहा करता था। उनकी खूबसूरती ने सभी को अपना कायल बना लिया। वह तीन दशकों तक बॉलीवुड में अपनी अदाओं के जलवे बिखेरती रहीं।

बताते चले कि मीना कुमारी का जन्म 1 अगस्त 1932 में हुआ था, मीना कुमारी की फैमली काफी गरीब थी जिसके कारण जब मीना ने जन्म लिया तो तभी उनकी फैमली उनको अनाथालय में छोड़ दिया था लेकिन जब उनको इस बात का अहसास हुआ तो वह कुछ समय बाद ही मीना को घर वापिस ले आए थे। कमाल की खूबसूरती, अदाओं और बेहतरीन अभिनय से सभी को अपना दीवाना बना चुकीं मीना कुमारी की जिंदगी में दर्द आखिरी सांस तक रहा। मीना कुमारी जिंदगी भर अपने अकेलेपन से लड़ती रहीं।

बताया जाता है कि करीब 4 साल की उम्र से ही मीना कुमारी ने फिल्‍म जगत में कदम रख दिया था जिसके बाद उन्‍होंने अपनी पहली फिल्म फरजन्द- ए- वतन में बेहतरीन भुि‍मका निभाई थी। इस फिल्म के निर्देशक विजय भट्ट थे ऐसे ही मीना कुमारी ने कई फिल्मों में काम किया जिसके बाद वह फेमस हो गई। धीरे धीरे उनकी अदाकारी के लोग कायल हो गए वहीं मीना कुमारी ने अपनी सुपरहिट फिल्मों से लोगों के दिल में जगह बना ली थी।

अगर आपको याद होगा तो बता दें कि मीना कुमारी की फिल्‍म फूल और कांटे साल 1966 में आई थीं जिसमें उन्‍होंने पहली बार धर्मेंद्र के साथ काम किया था। इतना ही नहीं कहा जाता है कि मीना की वजह से धर्मेंद्र को फिल्मों में काम मिला था जिसके बाद उन्‍होंने लगातार एक साथ कई फिल्मों में काम भी किया और फिर वो धीरे धीरे एक दूसरे के करीब आ गए लेकिन मीना कुमारी के जीवन में ये साथ भी उन्‍हें ज्‍यादा दिन तक नसीब नहीं हुआ क्‍योंकि वो दोनों पहले से ही शादीशुदा थे जिसकी वजह से उन्‍हें दूरियां बनानी पड़ी।

बताया जाता है कि फिल्‍म फूल और कांटे की तरक्की के बाद धर्मेंद्र ने मीना से दूरियां बढानी शुरु कर दी और ये दूरी मीना से बर्दाश्‍त नहीं हो सकी और वो तन्‍हा रहने लगी अकेलापन उन्‍हें खाने लगा था। धर्मेंद्र की बेवफाई को झेल ना सकी जिसके कारण वह रोज शराब पीने लगी।

बताया तो ये भी जाता है कि वो अपने गम को अकेलापन को भूलाने के लिए हमेशा के लिए अपने पास देसी-विदेशी शराब भरकर पर्स में रखने लगी थीं और जब भी उन्‍हें मौका मिलता था वो शराब की शीशी पीने लग जाती थी जिसकी वजह से उन्हें लीवर सिरोसिस जैसी गंभीर बीमारी हो गई और एक दिन अंतत: अपनी बिमारी के कारण वो 31 मार्च 1972 में दुनिया को छोड़ कर चली गई।