धोखा खाए फडणवीस बोले- अजित पवार ने बताई थी ऐसी बात, करना ही पड़ा ऐतबार

0
47

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वह सरकार बनाने के लिए राकांपा के पास नहीं गये थे, बल्कि अजीत पवार नेता विधायक दल के तौर पर उनके पास खुद आये थे. फडणवीस की मानें तो अजीत ने उनसे कहा था कि शरद पवार के कहने पर वह आये हैं. इसी वजह से उन्होंने 23 नवम्बर को शपथ लेने का फैसला किया.

फडणवीस ने शनिवार को एक टीवी चैनल को दिये साक्षात्कार में कहा कि अजीत पवार ने उनसे कहा था कि राज्य में तीन दलों की सरकार चलाना मुश्किल होगा. इसी वजह से शरद पवार ने उन्हें भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने के लिए भेजा है.

फडणवीस ने कहा कि उन्होंने मैं फिर आऊंगा यह घमंड की वजह से नहीं कहा था. यह मराठी में एक कविता की पहली पंक्ति है. चुनाव के दौरान जब उन्होंने इन शब्दों का प्रयोग किया था तो लोग उत्साहित हो गए थे. इसी वजह से मैंने इन शब्दों का उच्चारण विधानसभा सत्र के समापन के अवसर पर किया था.

उल्लेखनीय है कि फडणवीस ने 23 सितम्बर को फिर से मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और 80 घंटे बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था. उनके साथ राकांपा नेता अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इस्तीफा देने के बाद फडणवीस ने कहा था कि उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ क्यों ली, यह समय आने पर बताएंगे.