जल्लद लेखपाल पिता की खौफनाक करतूत, अपनी ही बेटी के साथ हर रोज बलात्कार…

0
109

फर्रुखाबाद । उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में अपनी ही बेटी से दुष्कर्म के आरोपी लेखपाल के दूसरे साथी को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसे न्यायालय में पेश किया। न्यायलय ने 14 दिन के रिमांड पर आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में जिला जेल फतेहगढ़ में निरुद्ध करने के आदेश दिए हैं।

मुख्य आरोपी लेखपाल को 15 दिन पहले जेल भेजा जा चुका है। न्यायालय ने लेखपाल को बंदियों से सम्भावित खतरे की अर्ज पर एटा की जिला में भेज दिया था। जहां वह न्यायिक अभिरक्षा में बंद है। फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के भोलेपुर की रहने वाली लेखपाल की पहली पत्नी ने अपने पति के विरुद्ध नाबालिग बेटी से दुष्कर्म करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बाद में पीड़ित बेटी ने अदालत में दिए गए बयानों में मनोज शाक्य के अलावा विष्णु रस्तोगी सोनू तिवारी एवं लेखपाल विमल जाटव के नाम का भी खुलासा किया था। उसने इन लोगों ने भी दुष्कर्म किया बताकर आरोपी बनाया था। न्यायालय ने सभी आरोपियों के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिए।

पुलिस को आरोपियों की सरगर्मी से तलाश थी। थाना मऊ दरवाजा क्षेत्र का रहने वाला मनोज शाक्य आज रोडवेज बस अड्डे से पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने उसके घर पर भी छापा मारा था। भयभीत परिजन मकान में ताला लगा कर चले गए हैं। फतेहगढ़ जेल में आरोपी लेखपाल पर हमला होने की आशंका में उसे पड़ोसी जिला एटा की जेल भेजा गया है। जबकि मनोज शाक्य को जिला जेल फतेहगढ़ में ही निरुद्ध कर दिया गया है। अन्य नामजद आरोपितों की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।

फतेहगढ़ कोतवाली के दरोगा नरेंद्र सिंह ने बताया कि मनोज फर्रुखाबाद बस स्टेशन पर बस के इंतजार में खड़ा था। मुखबिर की सूचना पर उसे घेरा बंदी करके गिरफ्तार कर लिया गया है।