नौकरी का झांसा पहले किया दुराचार और फिर उसके बाद…

उत्तर प्रदेश, बरेली, नौकरी का झांसा, दुराचार, दुष्कर्मबरेली: मुरादाबाद में रहने वाली युवती को नौकरी का झांसा देकर सुभाषनगर लाया गया। यहां आकर वह मानव तस्करों के चंगुल में फंस गई। जिस घर में उसे बंधक बनाकर रखा गया, वहां कुछ और लड़कियों की खरीद-फरोख्त भी की जाती थी। युवती को बंधक बनाकर दुष्कर्म किया गया। भागने की कोशिश की तो रॉड से पीटकर लहूलुहान कर दिया। हालत बिगड़ने पर आरोपी उसे जिला अस्पताल में छोड़कर भाग गए।

मुरादाबाद के कटघर निवासी महिला ने आइजी को दिए गए शिकायती पत्र में कहा है कि 29 नवंबर को मुरादाबाद मझोला कांशीराम नगर ब्लॉक सी निवासी सुधीर उनकी बेटी को बरेली की कार कंपनी में 10 हजार की नौकरी दिलाने की बात कहकर ले गया था।

वह उसे सुभाषनगर वाजपेई ढाल के पास एक घर में ले गया, जहां कांशीराम कॉलोनी निवासी विपिन और जमीना नाम की महिला पहले से मौजूद थी। वहां कुछ और लड़कियां भी लाईं गई थी। उसके बाद उसकी बेटी को कमरे में बंद कर दिया गया, जहां सुधीर ने कई बार दुष्कर्म किया।

एक दिन मौका पाकर वह भागने का प्रयास किया, लेकिन पकड़ी गई। इस पर उसे रॉड से पीटा गया। उसकी हालत बिगड़ी तो आरोपी उसे जिला अस्पताल में बेहोश छोड़कर भाग निकले। होश आने पर उसने फोन पर बताया तो परिजन पहुंचे। पीड़िता ने बताया कि आरोपी कई लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर लाए थे।

वह लड़कियों की खरीद-फरोख्त का काम करते हैं। उस दौरान परिजन बेटी का इलाज कराने घर लेकर चले गए। गुरुवार को पीड़ित परिवार ने आइजी से मुलाकात कर मामले की शिकायत की तो पुलिस ने सुधीर समेत तीनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एक टीम बनाई गई है।