इन 10 जिलों में कोरोना ने सबसे ज्यादा पसारे पांव, ये आंकड़े आपको हिला देंगे

0
142

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए पीएम मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की थी। जिसके बाद देश की ज्यादातर आबादी अपने घरों में ही है। लॉकडाउन की अवधि भी समाप्त होने वाली है। इसके पहले ये समझना बहुत अहम होगा कि क्या कोरोना का कहर अब थमने लगा है। फिलहाल ऐसा नहीं लग रहा है क्योंकि हर दिन नए पॉजिटिव केस आते जा रहे हैं। लेकिन एक रिसर्च का अध्ययन करने पर मालूम चलता है कि देश के 30 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव केस महज भारत के 10 जिलों से ही हैं। अब ऐसे में इन्हीं 10 जिलों पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है।दिल्ली का साउथ दिल्ली इलाका सबसे ज्यादा प्रभावित

दिल्ली में लगभग 525 पॉजिटिव केस अब तक आ चुके हैं। जिसमें से अकेले साउथ दिल्ली में 320 केस हैं। इसी इलाके में निजामुद्दीन भी आता है जहां पर ज्यादा तादाद में मरीज मिले हैं।

उत्तर प्रदेश का गौतम बुद्ध नगर

उत्तर प्रदेश का सबसे ज्यादा प्रभावित जिला गौतम बुद्ध नगर यानी नोएडा है। यह जिला दिल्ली एनसीआर में आता है। यहां पर 55 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। जबकि अगर बात पूरे उत्तर प्रदेश की की जाए तो यहां पर करीब 335 कोरोना के मरीज मिल चुके हैं।

कर्नाटक का बेंगलुरु जिला

कर्नाटक बेंगलुरु जिला सबसे ज्यादा कोरोना से प्रभावित है। अकेले बेंगलुरु में 57 लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। जबकि पूरे कर्नाटक की बात की जाए तो यहां पर 151 पॉजिटिव केस अब तक आए हैं। 12 लोगों के ठीक होने की खबर है जबकि 4 लोगों की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र का पुणे शहर भी नंबर दो पर

महाराष्ट्र का ही एक दूसरा जिला पुणे भी इस संक्रमण से भयंकर प्रभावित है। पुणे में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 62 है जबकि अगर पूरे महाराष्ट्र की बात की जाए तो यहां पर 1018 केस सामने आ चुके हैं। 56 लोगों ठीक हो चुके हैं। 64 लोगों की मौत हो चुकी है।

तमिलनाडु का चेन्नई शहर

तमिलनाडु में सबसे ज्यादा प्रभावित चेन्नई है यहां पर 81 लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण बताया जा रहा है। बात अगर पूरे तमिलनाडु की की जाए तो यहां पर टोटल 621 केस अब तक कोरोना से संक्रमित के सामने आ चुके हैं। जिसमें से 8 लोग ठीक हो चुके हैं और 5 लोगों की मौत हो चुकी है।

मध्य प्रदेश का इंदौर शहर

मध्य प्रदेश का इंदौर जिला कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है। इंदौर में अब तक 110 पॉजिटिव केसा चुके हैं, जबकि अगर पूरे मध्यप्रदेश की बात की जाए तो यहां पर 165 मामले हैं।

तेलंगाना का हैदराबाद इलाका सबसे ज्यादा प्रभावित

इसके बाद नंबर आता है तेलंगाना का। हैदराबाद के इस जिले में 113 मामले पाए गए हैं, जबकि अगर बात तेलंगाना के पूरे राज्य की जाए तो यहां पर 321 मामले हैं। जिसमें से 34 लोगों को ठीक करके घर भेजा जा चुका है जबकि 7 लोगों की मौत हो चुकी है।

केरला का कासगोड इलाका सबसे ज्यादा प्रभावित

केरल का सबसे ज्यादा प्रभावित जिला कासरगोड है। कासरगोड में 136 मामले अब तक आ चुके हैं। जबकि केरल में टोटल 327 लोगों को कोरोना का संक्रमण पाया गया है। जिसमें 58 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है और दो लोगों की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र का मुंबई सबसे ज्यादा प्रभावित

देश की आर्थिक राजधानी और महाराष्ट्र का मुंबई जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है। महाराष्ट्र में अब तक कुल 748 कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 56 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। 45 लोगों की मौत हो चुकी है।