क्राइम

थाने में ही पिट गए दारोगा, पड़ा थप्पड़ और फाड़ी गई वर्दी, लेकिन क्यों ?

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में भीम आर्मी का दुस्साहसिक कृत्य देखने को मिला है, जहां भीम आर्मी के वाराणसी मंडल अध्यक्ष ने थाने में ही एक दारोगा को थप्पड़ जड़ दिया। इतना ही नहीं, अध्यक्ष ने दारोगा के साथ दुव्र्यवहार करते हुए वर्दी फाड़ दी और एसआई के कंधे पर लगे सितारों को भी उखाड़ लिया। इससे पूरे थाने में अफरा-तफरी मच गई घटना को लेकर हड़कंप मचत गया और मौके पर कई थानों की फोर्स बुला ली गयी। आनन-फानन में भुड़कुड़ा सीओ महिपाल पाठक भी मौके पर पहुंच गए। हालांकि, मौके पर तैनात पुलिसकर्मियों ने आरोपी विनय सागर को तुरंत गिरफ्तार कर हवालात में डाल दिया।

क्या है पूरा मामला 

मामला गाजीपुर जिले के दुल्लहपुर थाने का है। बता दें कि गुरुवार की रात भुड़कुड़ा कोतवाली के घटारों गांव निवासी तीन युवक धामूपुर गांव के पास संदिग्ध अवस्था में घूम रहे थे। गश्त पर रहे दुल्लहपुर थाने के दारोगा सुरेन्द्र कुमार ने तीनों को रोककर पूछताछ की। पूछताछ में संतुष्टिपूर्वक जबाब नहीं मिलने पर तीनों को थाने ले आये और 151 में चालान कर दिया। इसकी सूचना शादियाबाद थाना क्षेत्र के खतीरपुर गांव निवासी व भीम आर्मी वाराणसी मंडल अध्यक्ष तथा जिला पंचायत सदस्य प्रतिनीधि विनय सागर को हुई तो विनय सागर अपने समर्थकों समेत दुल्लहपुर थाने पहुंचा और दारोगा पर पकड़े गये तीनों युवकों को छोड़ने का दबाव बनाने लगा।
 
इस पर पुलिस ने तीनों के खिलाफ चालान की बात कही। चालान की बात सुनते ही भीम आर्मी मंडल अध्यक्ष विनय सागर का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और वह थाने में ही गाली-गलौज करते हुए दारोगा सुनील कुमार से उलझ गया और दुव्र्यवहार करने लगा। बात ही बात में विनय सागर ने दारोगा की वर्दी फाड़ दी और दारोगा के कंधे पर लगे सितारों को भी नोंच लिया। इसके बाद विनय सागर पर थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों का गुस्सा फूट पड़ा और आसपास खड़े पुलिसकर्मियों ने आरोपी विनय सागर को पकड़कर हवालात में डाल दिया। पुलिस ने विनय कुमार के ऊपर एक दर्जन धारा लगाकर मुकदमा दर्ज किया है।
 
थानाध्यक्ष राजेश त्रिपाठी ने बताया कि विनय कुमार ने दुस्साहसिक काम किया है। इसके पहले भी वह कई बार पुलिस के साथ दुव्र्यवहार कर चुका है। आज तो उसने सारी हद पार कर दी। ऐसे लोगों की जगह जेल में है। इस तरह के कृत्य को पुलिस बर्दाश्त नहीं करेगी।  वहीं इस मामले में सीओ भुड़कुड़ा महिपाल पाठक का कहना है कि भीम आर्मी की गुंडई दिन-पर-दिन बढ़ती जा रही है। अब भीम आर्मी के लोग पुलिस से भी मारपीट करने में भी नहीं हिचकिचा रहे हैं। ऐसे लोगों की जगह जेल में ही है। विनय के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
Back to top button