उत्तर प्रदेश

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी से सोनभद्र रवाना, हाई अलर्ट पर प्रशासन

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी से सोनभद्र रवाना, उभ्भा गांव के पीडि़तों से मिलेंगी

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की पूर्वांचल प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को वाराणसी एयरपोर्ट पर पहुंची। यहां थोड़ी देर पाटी कार्यकर्ताओं से बातचीत के बाद प्रियंका सोनभद्र के नरसंहार पीड़ित गांव उभ्भा के लिए रवाना हो गईं।

उम्भा में प्रियंका भूमि विवाद में मारे गए लोगों के परिजनों और घायलों के बीच लगभग एक घंटे रहेंगी और उनसे बातचीत कर ढ़ाढ़स बढ़ायेगीं। इसके पहले बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री अन्तर राष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल पर जैसे ही बाहर निकली वहां पहले से मौजूद पार्टी के पूर्व विधायक अजय राय और अन्य पदाधिकारियों ने उनका गर्मजोशी से पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया।

प्रियंका गांधी के सोनभद्र दौरे को देख एयरपोर्ट और सोनभद्र उम्भा गांव में सुरक्षा का व्यापक प्रबन्ध किया गया है।  गौरतलब हो कि बीते 17 जुलाई को जमीन सम्बन्धी विवाद में दस लोगों की हत्या हुई थी और 24 लोग घायल हो गये थे। घटना के बाद पीड़ित परिवार से मिलने उभ्भा जा रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा को मिर्जापुर के नरायनपुर में पुलिस ने रोक दिया था। इससे खफा होकर प्रियंका समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गईं थीं। इसके बाद पुलिस उन्हें लेकर चुनार किले में आई। यहां प्रियंका ने 24 घंटे से अधिक समय तक धरना दिया था। मामला तूल पकड़ता देख जिला प्रशासन ने चुनार किले में ही पीड़ितों की मुलाकात प्रिंयका से कराई थी। प्रियंका ने पीड़ित परिजनों से मुलाकात के बाद 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता भी पार्टी की ओर से दिलाई थी।

प्रियंका के जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उम्भा गांव पहुंचे थे। उन्होंने पीड़ितों को सहायता देने के बाद डीएम व एसपी को हटा दिया था। इसके अलावा नौ गजेटेड व सात नॉन गजेटेड अधिकारियों पर भी कार्रवाई की थी। इस मामले की जांच एसआईटी कर रही है, जो अपनी रिपोर्ट तीन माह में सीएम को सौंपेगी। तब मुख्यमंत्री ने कहा था, इस कांड के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है, क्योंकि उन्हीं के सरकार में जमीनों को सोसाइटी के नाम दर्ज किया गया था।

Back to top button