योगी का बड़ा बयान: जो विदेशी जूठन से पेट पालते हैं, वही हिंदू आतंकवाद की बात करते हैं

फिल्म अभिनेता कमल हासन के एक बयान के बाद हिंदू टेरर पर फिर से चर्चा शुरू हो गई है. जहां हिंदूवादी संगठन कमल हासन के बयान का विरोध कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर अभिनेता प्रकाश राज ने उनके बयान का समर्थन किया है. उधर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कमल हासन के बयान पर बेहद ही सख्त बयान दिया है. सीएम योगी ने कहा कि ‘विदेशी जूठन खाकर पेट पालने वाले लोग ही हिन्दू आतंकवाद की बात कहते हैं.’ सीएम योगी ने कहा कि देश की जनता ऐसे लोगों को खारिज कर दिया है. ये लोग देश में माहौल खराब करना चाहते हैं.

असहिष्णुता की बात करने वाले विदेशी इशारे पर काम कर रहे

लखनऊ के भारतेंदु नाट्य अकादमी में चल रहे संवादी में धर्म विषय पर अपने मत रखते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पैसे कमाने के लिए अपनी बौद्धिक क्षमता को बेचने वाले, देश में असहिष्णुता की बात करने वाले विदेशी इशारे पर काम कर रहे हैं, ये लोग देशद्रोही हैं और देश इ्न्हें कभी माफ नहीं करेगा. सनातन धर्म भारत का एकमात्र धर्म है, बाकी तमाम धर्म इसके इतर मान्यताओं और संस्कृति का पालन करते हैं.

देश में धर्म निरपेक्ष नाम की कोई चीज नहीं है

देश में धर्म निरपेक्ष नाम की कोई चीज नहीं है, यह आजाद भारत का सबसे बड़ा झूठ है. सभी लोगों को अपने धर्म और मान्यता को मानने का अधिकार है, लेकिन इन सबसे ऊपर देश आता है, ऐसे में कोई भी असहिष्णुता के नाम पर देश के खिलाफ आवाज नहीं उठा सकता है और ना ही हिंदू आतंकवाद की बात कर सकता है.

हिंदू धर्म संस्कृति है और जीने का तरीका

हिंदू धर्म संस्कृति है और जीने का तरीका है, हिंदू देश ने मुसलमानों, क्रिश्चियन, यहूदी सहित कई धर्म के लोगों को शरण दी. भारत ने दुनिया को सहनशक्ति दी है और सभी धर्मों का सम्मान करता है. लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि हम लोगों को हिंदुओं को आतंकवादी कहने देंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी अपने धर्म को दूसरों पर थोप नहीं सकता है, एक पंडित हमेशा पंडित रहेगा, चाहे वह जनेउ पहने या नहीं, चोटी रखे या नहीं.