गरीबों की सेंटा क्लॉज बनीं ये लेडी सिंघम, बच्‍चों को बांटी खुशियां

देशभर में कल क्रिसमस धूमधाम से मनाया गया. इस पर्व पर सेंटा क्‍लॉज आकर गिफ्ट देते हैं. ऐसा शहरों के बड़े स्‍कूलों, मॉल और प्राइवेट ऑफिसों में तो देखने को मिलता है. गांव के गरीब लोगों के बीच भी सेंटा पहुंचते हैं ऐसा आपने नहीं सुना होगा. इस बार सेंटा ने गांव में पहुंचकर बच्‍चों को टॉफी-बिस्‍किट और बुजुर्गों को शॉल का तोहफा दिया.ऐसा ही नजारा देखने को मिला बहराइच के महसी तहसील के एक ग्राम में.

गरीबों की सेंटा बनीं ‘लेडी सिंघम’ 

यहाँ लेडी सिंघम के नाम से मशहूर रिसिया सीओ श्रेष्ठा ठाकुर बच्चो के बीच क्रिसमस मनाने पहुंच गई. इस मौके पर उन्होंने बच्चों को बिस्किट व टॉफी दी. साथ ही उन्होंने ठंड से ठिठुर रहे ग्राम के गरीब परिवारों की महिलाओं व बुजुर्गों को शाल व कंबल बांटें.

Advertisement

जिले की रिसिया सर्किल की सीओ श्रेष्ठा ठाकुर आज क्रिसमस के मौके पर महसी तहसील के गोलागंज पहुंची.उन्होंने वहां मौजूद बच्चो को बिस्किट व टॉफियां बांटी . वहां के बच्चों के लिए ये सब बहुत मजेदार रहा.

advt

 

इसके बाद महिला पुलिस अधिकारी ने वहां मौजूद महिलाओं व बुजुर्गों को शाल व कंबल दिया. जिसके बाद ग्राम वासियों में खुशी की लहर दौड़ गयी.

गांव वालों की बनी सेंटा

गांवववालों ने कहा- अभी तक हमने क्रिसमस के पर्व पर सेंटा क्लॉज का नाम सुना था. जो लोगों को खुशियां बाँटता है. लेकिन आज सीओ के रूप में हमने सेंटा को देख भी लिया .

इस मौके पर सीओ श्रेष्ठा ठाकुर ने बताया की बुलंदशहर से इस जिले में ट्रांसफर होने के बाद मेरी पहली पोस्टिंग महसी सर्किल में हुयी थी उस समय हमने देखा था कि ये इलाका बाढ़ से काफी प्रभावित था. उस समय भी मैने यहां के लोगों के लिये जो हमारे स्तर से संभव था, किया था. इस मौके पर हर साल बाढ़ से प्रभावित होकर जीवन को जीने के लिए जद्दोजहद करने वाले ग्रामवासियों व बच्चोंके चेहरे पर मुस्कान देखने की चाहत मुझे इनके बीच खींच लायी .