Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / बोले CM योगी, जहां पर रामलला विराजमान हैं वही श्रीराम की जन्म भूमि है

बोले CM योगी, जहां पर रामलला विराजमान हैं वही श्रीराम की जन्म भूमि है

जहां पर रामलला विराजमान हैं वही श्रीराम की जन्म भूमि है: योगी

अयोध्या .  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा “ जहां रामलला विराजमान हैं वही उनकी जन्मभूमि है।

योगी ने बुधवार को यहां रामजन्मभूमि जाकर रामलला के दर्शन किए और प्रदेश की सुख-समृद्धि का वरदान मांगा। उन्होंने कहा कि जहां पर रामलला विराजमान हैं वही उनकी जन्मभूमि है। सरकार अयोध्या के विकास के निरंतर काम कर रही है। श्रीराम का भव्य मंदिर का निर्माण अयोध्या में किया जायेगा। यह एक संवैधानिक मामला है। न्यायालय में विचाराधीन है।

उन्होंने कहा “ एक मुख्यमंत्री होने के नाते यह मेरा कर्तव्य और जिम्मेदारी है कि सूबे के सभी स्थलों का विकास हो। इसके लिए मैं संकल्पित भी हूं।” सरकार अयोध्या के विकास को लेकर संकल्पित है। इससे न केवल टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा बल्कि रोजगार भी मिलेगा। दीपावली पर्व अयोध्या की देन है। पूरा देश मर्यादा पुरुषोत्तम राम की वजह से यह त्यौहार मनाता है।

‘मंदिर था, है और रहेगा’
दीपोत्सव के भव्य आयोजन और सरयू तट पर तीन लाख से ज्यादा दीप जलाकर विश्व रेकॉर्ड स्थापित करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या को विकास की भेंट दी तो वहीं, बुधवार को मंदिर मुद्दे पर बात की। सीएम ने कहा कि इसमें कोई संशय नहीं है कि वहां मंदिर था, है और रहेगा। उन्होंने कहा कि भव्य मंदिर निर्माण के लिए जल्द ही निर्णय आएगा और संवैधानिक दायरे में रहकर राम मंदिर निर्माण होगा। बता दें कि सीएम ने मंगलवार को आयोजन के दौरान फैजाबाद का नाम अयोध्या करने के साथ ही एयरपोर्ट और मेडिकल कॉलेज बनवाने का ऐलान भी किया।

‘संवैधानिक दायरे में समाधान’
बुधवार को सीएम योगी ने कहा कि अगले कुछ वर्षों में अयोध्या बेहतरीन नगरी के रूप में विकसित की जाएगी। सीएम ने संतों से मुलाकात के बाद कहा, ‘अयोध्या में राम लला का दर्शन करने ही लोग आते हैं। इसमें कोई भी संशय नहीं है कि मंदिर था, है और रहेगा।’ उन्होंने कहा कि मंदिर को केवल भव्य स्वरूप देने की मांग है और इस दिशा में सरकार सकारात्मक प्रयास कर रही है। भारत के संवैधानिक दायरे में रहकर समाधान होगा।’

बुधवार को रामजन्मभूमि में रामलला और हनुमान गढ़ी समेत प्रमुख मंदिरों में दर्शन करने के बाद सीएम ने मीडिया से बात की। उन्होंने अयोध्या के विकास के लिए बीजेपी सरकार की ओर से चलाईं गईं योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि आने वाले वर्षों में अयोध्या को एक बेहतरीन नगरी के रूप में विकसित किया जाएगा। सीएम ने कहा, ‘अयोध्या सात पवित्र नगरों में से एक है और दीपोत्सव से पूरे विश्व में इसकी संस्कृति देखी गई।’

दर्शनीय मूर्ति बनेगी अयोध्या की पहचान
आस्था से जुड़े प्रश्न पर भगवान राम की भव्य प्रतिमा बनवाने का आश्वासन देते हुए सीएम ने कहा, ‘श्री राम की एक दर्शनीय मूर्ति स्थापित हो, भूमि के अनुसार उसके बारे में चर्चा करेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘पूजनीय मूर्ति मंदिर में होगी, लेकिन एक दर्शनीय मूर्ति भी होगी जो यहां की पहचान बन सके।’ सीएम ने कहा, ‘हम वह सारी व्यवस्थाएं करेंगे जिससे आस्था का सम्मान भी हो और अयोध्या की पहचान बन सके।’

स्वच्छता पर बेहतर काम कर रही है सरकार
सीएम योगी ने कहा कि इस आयोजन से पूरी दुनिया में अच्छा संदेश गया है। उन्होंने कहा, ‘अयोध्या के विकास के लिए सरकार ने कई योजनाएं तैयार की हैं। इन्हें धरातल पर लाने के लिए हमने निरीक्षण किया है और पूरा विश्वास है कि आने वाले कुछ वर्षों में अयोध्या बेहतरीन नगरी के रूप में स्थापित होगी।’ उन्होंने कहा कि अयोध्या की स्वच्छता के लिए भी सरकार बेहतर काम कर रही है क्योंकि देश और दुनिया के करोड़ों लोग यहां आते हैं।

 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com