क्राइम

बच्चे ने स्मैक लाने से किया इनकार, गले से नीचे उतार दिया तेजाब

3 men thrashed a 14-yr-old boy & made him drink acid

लखनऊ । प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मडिय़ाव थाना क्षेत्र मे नशेडी दबंगो ने क्रूरूरता की हदे पार करते हुए एक 15 वर्षीय किशोर की बेरहमी से पिटाई करने के बाद तो नशेड़ियों ने उसके मुंह में जबरन एसिड उड़ेल दिया  क्यूकि उस किशोर ने नशेडिय़ो द्वारा उससे मगांया जाने वाला गांजा लाने से इन्कार कर दिया था। नशेडिय़ो द्वारा मारपीट कर जलाया गया किशोर जब बुरी हालत मे अपने घर पहुॅचा तो घर वाले उसे देख कर हैरान हो गए।

घायल किशोर के पिता ने मोहल्ले के ही रहने वाले नूर व उसके दो अन्य साथियो के खिलाफ मडिय़ाव थाने में मुकदमा दर्ज कराया तो पुलिस ने तीन आरोपियो में से एक को गिरफ्तार कर लिया है। इस सम्बन्ध मे इन्स्पेक्टर मडिय़ाव का कहना है कि मारपीट के मामले में गांजा मगाए जाने की बात फर्जी है उन्हाने कहा कि आपसी लड़ाई की बात सामने आई है। पुलिस के लिए भले ही ये मामूली मारपीट का मामला हो लेकिन जिस तरह की क्रूरूरता किशोर के साथ की गई है उससे लगता है कि घटना स्थल के आस-पास का वातावरण नशेडिय़ो ने दूषित कर रखा है और इस तरह की वारदात भविष्य के लिए भी खतरा हो सकती है। जानकारी के अनुसार मडिय़ाव मे छोटे मियां की मस्जिद फैजुल्लांज टीले के पास अपने परिवार के साथ रहने वाले मोहम्मद वकील का 15 वर्षीय बेटा मोहम्मद फैसल बुद्धवार की सुबह करीब 10 बजे घर से निकला था 6 घंटे के बाद शाम करीब 4 बजे वो जब घर लौटा तो उसकी हालत खराब थी। शरीर पर चोटो के कई निशान के अलावा उसके मुंह पर ज्वलन्तशील पदार्थ से जलाए जाने के गम्भीर निशान थे।

गम्भीर हालत मे घर पहुॅचे फैसल ने अपने घर पर बताया कि उसे नूर व उसके दो अन्य साथियो ने इस लिए मारा पीटा क्यूंकि उन लोगो ने उससे गांजा लाकर देने के लिए कहा तो उसने साफ  इन्कार कर दिया तो नशेड़ी दबंगो ने उसके मुंह पर तेजाब की तरह का कोई ज्वलन्तशील पदार्थ डाल कर उसे जला दिया और मौके से भाग गए। अपने पुत्र के मुंह की हालत देख कर वकील मडिय़ांव थाने पहुॅचे और मोहल्ले मे ही रहने वाले नूर और उसके दो अन्य अज्ञात साथियो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया।

घायल फैसल को बलरामपुर अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। इस सम्बन्ध मे इन्स्पेक्टर मडिय़ाव संतोष सिंह का कहना है कि नूर नाम के एक मुलजिम को गिरफ्तार कर लिया गया है दो की तलाश जारी है उन्होने दबंग युवको द्वारा फैसल से गांजा मगाएं जाने की बात को सिरे से नकारते हुए कहा कि इस तरह का कोई मामला नही है मामला मारपीट का है जो आपसी विवाद के बाद हुआ है।

जबकि पीडि़त किशोर फैसल के जले हुए मुंह को अगर देखा जाए तो साफ प्रतीत हो रहा है कि उसके होंठ किसी ज्वलन्तशील पदार्थ से ही जले है भले ही नूर और उसके साथियो ने घायल फैसल से गाजां न मगाया हो लेकिन जिस जिस तरह से दबंगो ने फैसल को पीट कर ज्वलन्तशील पदार्थ से उसे घायल किया है दबंगो का ये तरीका खतरनाक है। फैसल पर अगर एसिड से हमला हुआ तो सवाल ये उठता है कि प्रतिबन्धित एसिड दबंगो के पास कहां से आया।

Back to top button