देशराजनीति

छत्तीसगढ़ के होने वाले CM भूपेश बघेल इस मामले में जा चुके हैं जेल

छत्तीसगढ़ के होने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सेक्स सीडी कांड मामले में जा चुके हैं एक बार जेल

रायपुर . भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ में 15 वर्षों बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस विधायक दल के आज नेता चुन लिए गए।श्री बघेल कल राज्य के नए मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेंगे,जबकि मंत्रिमंडल का गठन बाद में होगा।
पार्टी के केन्द्रीय पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे एवं राज्य के प्रभारी पी.एस.पुनिया की मौजूदगी में नवनिर्वाचित विधायकों की प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में हुई बैठक में श्री बघेल को विधायक दल का नेता चुन लिया गया।बैठक में आलाकमान द्वारा भेजा गय़ा लिफाफा खोला गया जिसमें बघेल का नाम था। बघेल को इसके बाद विधायक दल ने औपचारिक रूप से नेता चुन लिया।

पार्टी पर्यवेक्षक श्री खड़गे ने श्री बघेल के चुने जाने के बाद पत्रकारों को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री पद के चारों दावेदारों ने मिलकर बराबर काम किया,इसलिए नेता चुनने में काफी दिक्कत हुई।तीन बार पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को बैठक करनी पड़ी।आखिरकार गांधी ने श्री बघेल के नाम पर सहमति दी।

उन्होने बताया कि श्री गांधी की मंशा की बैठक में विधायकों को जानकारी दी गई, जिसका सभी से सर्वसम्मति से अनुमोदन किया।उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री पद के शेष तीनों दावेदार डा.चरणदास महंत, ताम्रध्वज साहू एवं टी.एस.सिंहदेव ने भी सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित करने वालों में शामिल थे।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष भूपेश बघेल सूबे के अगले मुख्यमंत्री होंगे। 23 अगस्त 1961 को जन्मे बघेल कुर्मी जाति से आते हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल का अपने तेवरों से छत्तीसगढ़ की राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान बनाने वाले राजनेताओं में  शुमार होता है। भूपेश बघेल की राजनीतिक गतिविधियां भी कम नहीं रही हैं।

अक्टूबर 2017 में एक कथित सेक्स टेप वायरल हुआ था

भूपेश बघेल 1990-94 तक  जिला युवक कांग्रेस कमेटी, दुर्ग (ग्रामीण) के अध्यक्ष रहे हैं। छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी समाज के सन् 1996 से वर्तमान तक संरक्षक बने हुए हैं। मध्यप्रदेश हाऊसिंग बोर्ड के सन् 1993 से 2001 तक  निदेशक रहे हैं। 1999 में मध्यप्रदेश सरकार में  परिवहन मंत्री रहे हैं।

विवादों से भी भूपेश बघेल का नाता रहा है। गौरतलब है कि अक्टूबर 2017 में एक कथित सेक्स टेप वायरल हुआ था। बाद में इस मामले में दिल्ली से एक पत्रकार की गिरफ्तारी हुई थी। इस मामले में भाजपा ने कांग्रेस नेताओं पर कथित सेक्स सीडी बांटने का आरोप लगाया था, सीडी कांड में पत्रकार  के साथ ही भूपेश बघेल के खिलाफ रायपुर में प्राथमिकी दर्ज हुई थी। राज्य सरकार ने यह मामला सीबीआई को सौंप दिया था। सीबीआई ने मामले में बीजेपी और कांग्रेस नेताओं से पूछताछ की थी।

बाद में सेक्स सीडी मामले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। कथित सेक्स सीडी मामले में भूपेश बघेल को अलग-अलग धाराओं के तहत आरोपी बनाया गया था।

बाद में बताते हैं कि बघेल की भूमिका से खफा आलाकमान ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा.चरणदास महंत को चुनाव अभियान समिति का प्रमुख बनाकर उनके समकक्ष खड़ा कर दिया। अक्टूबर में ही भूपेश बघेल अब नए विवाद में पड़ गए थे। एक सभा के दौरान भूपेश बघेल बीजेपी पर निशाना साध रहे थे लेकिन उनके मुंह से लड़कियों के लिए आपत्तिजनक शब्द निकल गए। जिससे सभा में उपस्थित महिलाएं बीच कार्यक्रम में ही उठकर चली गईं थीं।

विधानसभा चुनाव में भूपेश को बड़ी चुनौती उनके भतीजे विजय बघेल ने ही दी थी। 2003 में कांग्रेस जब सत्ता से बाहर हो गई थी तो भूपेश को विपक्ष का उपनेता बनाया गया था, 2004 में जब लोकसभा के चुनाव होने थे, तो भूपेश को दुर्ग से उम्मीदवार बनाया गया था। अक्टूबर 2014 में उन्हें प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया और तब से वो इस पद पर हैं। भूपेश बघेल का दावा है कि इस चुनाव में कांग्रेस के बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

Back to top button