एक्शन में चिदंबरम: सीतारमण के ‘प्याज नहीं खाती’ वाले बयान पर कसा Avacado वाला तंज

0
23

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि वह ज्यादा प्याज या लहसुन नहीं खाती हैं। वह ऐसे परिवार से हैं जहां इन दोनों सब्जियों का ज्यादा इस्तेमाल नहीं होता है। सीतारमण का यह बयान तब आया जब विपक्षी सदस्य प्याज की बढ़ती कीमत पर सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे थे। अब इसे लेकर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम का भी बयान सामने आया। चिदंबरम 100 दिनों से ज्यादा दिन जेल में गुजार संसद पहुंचे थे, जहां उन्होंने मीडियो के लोगों के बात करते हुए कहा, ‘वित्त मंत्री ने कल कहा कि वह प्याज नहीं खाती हैं, तो वह क्या खाती हैं? क्या वह एवोकाडो(फल) खाती है?

सीतारमण ने कहा, ‘मैं प्याज-लहसुन ज्यादा नहीं खाती। मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जहां प्याज से इतना कोई लेना-देना नहीं है।’ इससे पहले, लोकसभा सांसद सुप्रिया सुले ने एनपीए और प्याज किसानों का मुद्दा उठाया था।

सुले ने पूछा था, ‘क्यों प्याज का उत्पादन कम हो गया है? हम चावल और दूध और कई अन्य उत्पादों का निर्यात करते हैं। प्याज उत्पादक एक छोटा किसान है और उसे वास्तव में संरक्षित करने की आवश्यकता है।’ हालांकि, फिर प्याज का अधिक सेवन न करने के बयान के बाद, सीतारमण ने प्याज उत्पादक किसानों के लाभ के लिए सरकार की नीति पर विस्तार से बताया।

उन्होंने कहा, ‘2014 से, मैं मंत्रियों के कुछ समूह का हिस्सा रही हूं जो प्याज के बाजार में अप और डाउन पर नज़र रखता है। कभी-कभी जब फसल का अधिशेष होता है, तो हमने उन लोगों को भी सहायता देकर सुविधा प्रदान की है, जो आयात करना चाहते हैं। मैंने निर्यात के लिए 5 से 7 फीसद सहायता के लिए रातोंरात पारित आदेश दिए हैं।’ बता दें कि सीतारमण, जो 2019-20 के लिए अनुदानों की अनुपूरक मांगों के पहले बैच पर बहस का जवाब दे रही थीं, उन्होंने कहा कि प्याज की कीमत में वृद्धि खेती और उत्पादन के क्षेत्र में कमी जैसे कारकों के कारण हुई।