राजनीति

‘चाणक्य’ का नया प्रयोग: गुप्त मतदान से प्रत्याशी चुनेगी बीजेपी

चुनावी विगुल बज चूका है साथ ही सियासत भी काफी गर्म हो चुकी है वही छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद  भाजपा  के उम्मीदवारों के नामों को लेकर चर्चा भी तेज हो गयी है। बीजेपी ने गुप्त मतदान के जरिए प्रत्याशियों का नाम तय करने का फैसला किया है। पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र को बनाए रखने के लिए रणनीतिकारों ने ये नया प्रयोग किया है। इसके तहत मतदान के बाद मतपेटी को दिल्ली के पार्टी मुख्यालय भेजा जाएगा।

प्रत्याशियों के नाम तय करने के लिए बीजेपी का नया प्रयोग

इस मतदान में राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों के अलावा राष्ट्रीय पदाधिकारी, प्रदेश पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष, महामंत्री, मंडल अध्यक्ष व महामंत्री, मोर्चा के अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, महापौर, निगम अध्यक्ष, नगरीय निकायों के अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष व महामंत्री शामिल होंगे। 14 अक्टूबर को रायगढ़ के 5 विधानसभा क्षेत्रों-लैलूंगा, सारंगढ़, खरसिया, धर्मजयगढ़ और रायगढ़ के लिए उम्मीदवारों का चुनाव गुप्त मतदान के जरिए होगा।

दिल्ली भेजी जाएगी मतपेटी

इस नई प्रकिया के तहत एक पदाधिकारी अपनी पसंद के तीन संभावित प्रत्याशियों के नाम लिख सकते हैं। इनको वरीयता क्रम में एक, दो और तीन नंबर देना होगा। जिस मतपेटी में मतदान होगा, उसमें ताला जड़ा होगा। मतपेटी को मतदान के बाद सीधे दिल्ली के पार्टी मुख्यालय भेजा जाएगा। यहां उम्मीदवारों के चयन के लिए जिलेवार मतपेटी खोली जाएगी और पर्ची की पड़ताल की जाएगी।

गुप्त मतदान के द्वारा तय होंगे उम्मीदवारों के नाम

इसके बाद पदाधिकारियों ने जिनका नाम को सबसे अधिक बार लिखा होगा, उसको एक और फिर नंबर दो पर उम्मीदवार का नाम पैनल में शामिल किया जाएगा। इसके बाद बीजेपी-RSS के अनुसार सर्वे में जीत दर्ज करते दिखाई देने वाले नामों के साथ मिलान किया जाएगा और तब जाकर उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया जाएगा।

Back to top button