ख़बरदेश

मिशन ‘मोदी रोको’ पर आंध्र के सीएम, जानिए अबतक क्या-क्या किए नायडू

लोकसभा चुनाव के सातवें चरण का चुनाव प्रचार खत्म होते ही मोदी के खिलाफ विपक्ष एकजुट होने की कोशिश में लग गया है. नतीजों से पहले ही नई सरकार के लिए टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने विपक्षी नेताओं को एकजुट करने की कवायद के तहत उनसे मिलना शुरू कर दिया है. मिशन गठबंधन को लेकर चंद्रबाबू नायडू शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करने पहुंचे.

राहुल गांधी से मुलाकात के बाद नायडू लखनऊ के लिए रवाना होंगे. यहां वो बीएसपी सुप्रीमो मायावती और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलेंगे. इस मुलाकात में दोनों नेता चुनावी नतीजों के बाद उभरने वाली सियासी तस्वीर पर मंथन करेंगे. इससे पहले शुक्रवार को नायडू ने कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाकात की थी. सिंघवी के बाद नायडू आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिले थे. दोनों नेताओं के बीच नतीजों के बाद की रणनीति पर बातचीत हुई. केजरीवाल से मुलाकात के बाद नायडू ने लेफ्ट नेताओं के साथ भी गठबंधन से सरकार बनाने की संभावनाओं पर चर्चा की.

नायडू पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से हाल ही में मिल चुके हैं. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से मुलाकात में नायडू ने चुनावी नतीजे आने से पहले 21 मई को विपक्षी दलों की बैठक आयोजित करने का सुझाव रखा था लेकिन ममता बनर्जी इसके लिए तैयार नहीं थीं.

ममता बनर्जी का कहना था कि क्षेत्रीय दलों को बैठक में भाग लेने के लिए पर्याप्त समय दिया जाए. उनका कहना था कि 19 मई को आखिरी चरण के चुनाव के बाद 21 मई को क्षेत्रीय दलों के नेताओं का दिल्ली पहुंचना मुमकिन नहीं होगा.

वहीँ विपक्ष की बैंठक को लेकर यूपीए चेयर पर्सन सोनिया गांधी भी एक्टिव हैं और माना जा रहा है कि 23 मई को विपक्षी दलों के नेताओं का दिल्ली में जमावड़ा देखने को मिल सकता है. गौरतलब है कि रविवार को सातवें चरण का चुनाव सम्पन्न होना है. 23 मई को चुनावी नतीजे भी घोषित होंगे.

 

Back to top button