जरा हट के

साड़ी पहनाने के लिए इस लड़की को लोग देते हैं लाखों, बड़ी हस्तियां करती हैं बुक क्योंकि..

साड़ी एक भारतीय परिधान हैं जिसे देश की कई करोड़ महिलाएं पहनती हैं. ये एक ऐसा परिधान हैं जो महिला की खूबसूरती मचार चाँद लगा देता हैं. देश भर में महिलाएं इस साड़ी को अलग अलग तरीके से पहनती हैं. आप साड़ी किस अंदाज़ और स्टाइल में पहनते हैं इससे भी आपके लुक पर गहरा असर पड़ता हैं. आज भी कई ऐसे लोग हैं जिन्हें खुद से साड़ी पहनना नहीं आता हैं. ऐसे में वे किसी दुसरे से मदद ले लेते हैं. एक ख़ास तरह से साड़ी पहनना भी टेलेंट होता हैं. हम में से कई लोग शायद इसे सीरियस नहीं लेते हैं लेकिन आपको जान हैरानी होगी कि एक महिला ऐसी भी हैं जिसने इस साड़ी पहनने के टेलेंट को ही अपना पेशा बना रखा हैं. इतना ही नहीं लोग इस महिला से साड़ी पहनने का 25 हजार से लेकर कई लाख रुपए तक दे देते हैं. ये महिला कई बड़ी बड़ी सेलिब्रिटीज को भी साड़ी पहना चुकी हैं. तो चलिए जानते हैं इस महिला की दिलचस्प कहानी.

इनसे मिलिए. ये हैं डॉली जैन. बेंगलुरु में पली बड़ी डॉली साड़ी पहनाने का बिजनेस चलाती हैं. वे अब तक प्रियंका चोपड़ा, दीपिका पादुकोण, ईशा अंबानी, नीता अंबानी, आशा भोसले और श्रीदेवी सहित कई बड़ी हस्तियों को साड़ी पहना चुकी हैं. जब भी किसी सेलिब्रिटीज के घर कोई फंक्शन होता हैं या उन्हें किसी इवेंट में जाना होता हैं तो वे साड़ी एवं लहंगा पहनाने के लिए डॉली को ही बुलाते हैं. डॉली उनकी पहली पसंद होती हैं. इसके पीछे एक खास वजह भी हैं. दरअसल डॉली का नाम लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में भी दर्ज हैं. उन्होंने एक ही साड़ी को 325 अलग तरीको से बाँधने का रिकॉर्ड बनाया हैं. इसके साथ ही एक साड़ी को मात्र 18 सेकण्ड में बाँधने का रिकॉर्ड भी उन्ही के नाम हैं.

ऐसे मिली प्रेरणा

डॉली बताती हैं कि शादी के पहले उन्हें साड़ी पहनना बिलकुल पसंद नहीं था. वे अक्सर जींस पहना करती थी. लेकिन शादी के बाद उन्हें घर में साड़ी के अलावा कोई और परिधान पहनने की अनुमति नहीं मिली. इससे डॉली पहले तो दुखी हुई. लेकिन फिर उन्होंने सोचा कि यदि मुझे साड़ी पहनना ही हैं तो क्यों ना मैं इसे अलग अलग स्टाइल्स में पहनू. बस फिर क्या टा डॉली ने अपने आसपास की महिलाओं के साड़ी पहनने के तरीको को नोटिस करना शुरू कर दिया. धीरे धीरे वे इसमें माहिर होने लगी. उन्होंने फिर खुद से ही साड़ी और लहंगा पहनने के कई अनोखे तरीके खोज निकाले. डॉली शुरुआत में छोटी मोटी शादियों में साड़ी और लहंगा पहनाने का काम करने लगी. हालाँकि डॉली को असली पहचान लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में साड़ी पहनने के टेलेंट के रूप में दर्ज होने पर मिली.

श्रीदेवी को साड़ी पहनाने से हुई करियर की शुरुआत

एक बार डॉली के किसी रिश्तेदार ने उन्हें मुंबई एक शादी में बुलाया था. यहाँ उन्होंने पहली बार श्रीदेवी को देखा. उन्हें यकीन नहीं हो रहा था कि उन्हें श्रीदेवी जैसी सुपरस्टार को साड़ी पहनाने का मौका मिला हैं. साड़ी पहनवाने के बाद श्रीदेवी ने डॉली को बस एक ही बात बोली थी कि ‘तुम्हारी उँगलियों में तो जादू हैं.’ बस इसके बाद डॉली ने इस सीरियस लेने शुरू कर दिया और सोचा कि जब इतना बड़ा स्टार मेरी तारीफ़ कर रहा हैं तो जरूर कोई ख़ास बात हैं. फिर वे दुबारा मुंबई आई और यहाँ इस साड़ी पहनाने के काम को प्रोफेशनली करने लगी.

इसी कड़ी में एक बार डॉली किसी शादी में दुल्हन को लहंगा पहना रही थी. वहां उसकी चुनरी बार बार नीचे खिसक रही थी. फिर डॉली ने उसकी चुनरी कुछ ऐसे सेट करी कि वो डांस करने के बाद भी नहीं गिरी. डॉली का ये टेलेंट फेमस फैशन डिजाइनर अबू जानी संदीप खोसला ने नोटिस किया. उन्होंने डॉली को अपने साथ काम करने का मौका दिया. इसके बाद डॉली उनके और भी कई क्लाइंट्स को साड़ी एवं लहंगा पहनाने लगी. यहाँ तक कि उन्होंने सब्यसाची जैसे बड़े ब्रांड के लिए भी काम करने का मौका मिला. आज डॉली को ये काम करते हुए 15 साल हो गए और उनके पास अपनी एक बड़ी टीम भी हैं.

Back to top button