उत्तर प्रदेश

CBI छापेमारी पर बोलीं IAS बी चंद्रकला- चुनावी छापों से जीवन का रंग फीका क्यों करें ?

अवैध खनन मामले में सीबीआई द्वारा निशाना बनाए जाने पर आईएएस अधिकारी बी चंद्रकला ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अपने खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया है।

चंद्रकला ने सीबीआई के छापे का जवाब कविता के ज़रिए लिंक्डइन पर दिया है। उन्होंने लिखा, “चुनावी छापा तो पड़ता रहेगा, लेकिन जीवन के रंग को क्यों फीका किया जाय, दोस्तों। आप सब से गुजारिश है कि मुसीबतें कैसी भी हों , जीवन की डोर को बेरंग ना छोड़ें”।

उन्होंने कविता में लिखा

रे रंगरेज़ ! तू रंग दे मुझको ।। रे रंगरेज़ तू रंग दे मुझको , फलक से रंग , या मुझे रंग दे जमीं से , रे रंगरेज़! तू रंग दे कहीं से ।। छन-छन करती पायल से , जो फूटी हैं यौवन के स्वर ; लाल से रंग मेरी होंठ की कलियाँ, नयनों को रंग, जैसे चमके बिजुरिया, गाल पे हो , ज्यों चाँदनी बिखरी , माथे पर फैली ऊषा-किरण , रे रंगरेज़ तू रंग दे मुझको, यहाँ से रंग , या मुझे रंग दे, वहीं से , रे रंगरेज़ तू रंग दे, कहीं से ।। कमर को रंग , जैसे , छलकी गगरिया , उर,,,उठी हो, जैसे चढती उमिरिया , अंग-अंग रंग , जैसे , आसमान पर , घन उमर उठी हो बन , स्वर्ण नगरिया ।। रे रंगरेज़ ! तू रंग दे मुझको , सांस-सांस रंग , सांस-सांस रख , तुला बनी हो ज्यों , बाँके बिहरिया , रे रंगरेज़ ! तू रंग दे मुझको ।। पग- रज ज्यों , गोधुली बिखरी हो , छन-छन करती नुपूर बजी हो , फाग के आग से उठती सरगम , ज्यों मकरंद सी महक उडी हो ।। रे रंगरेज़ तू रंग दे मुझको , खुदा सा रंग , या मुझे रंग दे हमीं से , रे रंगरेज़ तू रंग दे , कहीं से ।। पलक हो, जैसे बावड़ी वीणा , कपोल को चूमे , लट का नगीना , तपती जमीं सा मन को रंग दे , रोम – रोम तेरी चाहूँ पीना ।। रे रंगरेज़ तू रंग दे मुझको , बरस-बरस मैं चाहूँ जीना ।। :: बी चंद्रकला ,,आई ए एस ।। ,,चुनावी छापा तो पडता रहेगा ,,लेकिन जीवन के रंग को क्यों फीका किया जाय ,,दोस्तों । आप सब से गुजारिश है कि मुसीबते कैसी भी हो , जीवन की डोर को बेरंग ना छोडे ।।

https://www.linkedin.com/feed/update/urn:li:activity:6487935973001912320

 

इसी पोस्ट के नीचे चंद्रकला के फॉलोअर ने उन्हें अपनी बात मीडिया के सामने रखने की सलाह दी है। इस पर चंद्रकला ने जवाब देते हुए लिखा है, “फिलहाल मामला न्यायालय में है। बेहतर होगा कि अभी जांच एजेंसी को अपना काम करने दें। समय आने पर इस मामले से संबंधित बातें हम पब्लिक डोमेन में भी रखेंगे”।

दरअसल बीते शनिवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर सीबीआई ने अवैध रेत खनन के मामले में बी चंद्रकला के खिलाफ़ कार्रवाई करते हुए 12 जगहों पर छापेमारी की थी।

जिसमें सीबीआई ने चंद्रकला की संपत्ति के बारे में खुलासा करते हुए कहा कि केंद्र सरकार के सामान्य प्रशासन एवं प्रशिक्षण विभाग की शुरूआती जानकारी के अनुसार चंद्रकला की संपत्ति 2011-12 में सिर्फ 10 लाख रुपये थी।

जो कि साल 2013-14 में यह बढ़कर करीब 1 करोड़ रुपये हो गई। इस हिसाब से अगर देखा जाए तो उनकी संपत्ति में महज एक साल में 90 फीसदी का इजाफा हुआ है।

बता दें कि चंद्रकला सोशल मीडिया पर ख़ासा पसंद किए जाने वाली आईएएस हैं। वो 2008 बैच की उत्तर प्रदेश कैडर की आईएएस अधिकारी हैं। मूल रूप से वह तेलंगाना की रहने वाली हैं।

Back to top button