सेहत

तेजी से फैल रहा है ये वाला कैंसर, सबसे ज्यादा पुरुषों को बनाता शिकार, एक साल के अंदर मौत

कैंसर से हम सभी वाकिफ हैं। ये बहुत ही भयानक बीमारी है। ये बीमारी बहुत तेज़ी से फैल रही है। विश्व में ज्यादातर लोग कैंसर से पीड़ित हैं। भारत में भी कैंसर एक धीमक की तरह फैलता जा रहा है। हम सभी को ये जानकर बहुत हैरानी होगी कि कैंसर लगभग 100 प्रकार का होता है। दिल्ली में पुरुषों में तेज़ी से सबसे ज़्यादा हेड, गला, फेफड़े, प्रोस्टेट, कोलन, ओसेफेगस जैसे घातक कैंसर के मामले सामने आ रहे हैं। जबकि दिल्ली की महिलाएँ ब्रेस्ट, कर्विक्स, गालब्लैडर, ओवरी और लंग कैंसर की चेपट में तेज़ी से आ रही हैं।

गॉलब्लेडर का कैंसर पिछले कुछ सालों में काफी बढ़ा है। दिल्ली में रह रहे लोग कैंसर से ज्यादा पीड़ित हो रहे हैं और सबसे ज्यादा लोग गॉलब्लेडर के कैंसर से पीड़ित हो रहे हैं। 1998 में हुए एक शोध से यह बात सामने आयी थी कि उस समय दिल्ली के पुरुष गालब्लैडर कैंसर से पीड़ित थे, लेकिन इस कैंसर का स्थान 24वें नम्बर पर था। जबकि महिलाओं की बात की जाए तो ये कैंसर पाँचवें नम्बर पर था। 14 वर्षों के बाद यानी 2012 में GBC की रैंकिंग काफ़ी ऊपर पहुँच गयी है।

पुरुषों में होने वाले कैंसर में GBC 9वें स्थान पर है जबकि महिलाओं में यह तीसरे नम्बर पर है। और ये सारी रिपोर्ट्स दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों के द्वारा तैयार की गई है। उन्होंने 25 सालों के आंकड़ों का अध्ययन करने के बाद रिपोर्ट्स पेश की है। गॉलब्लेडर का कैंसर तेजी से फैल रहा है पर डॉक्टरों के अनुसार अभी कैंसर के होने के कारण  नहीं पता चल पा रहे हैं। पर उनका अनुमान है कि दिल्ली का प्रदूषण और गंदगी ही शायद इसका कारण हैं।

 

दिल्ली गॉलब्लेडर कैंसर के मामले में भारत में दूसरे स्थान पर आता है। और गालब्लैडर कैंसर के मामले में पहले स्थान पर आता है वो है असम का कामरूप जिला। जहाँ 1 लाख की आबादी में गालब्लैडर कैंसर के 17 मामले सामने आते हैं। आपको बता दें GBC सबसे ख़तरनाक कैंसर में से एक है। इसके लक्षण बहुत बाद में पता चलते हैं, तब तक बहुत देर हो जाती है। ऐसी स्थिति में सर्जरी नहीं किया जा सकता है।

 

इस बीमारी से एक साल के अंदर ही मरीज़ की मौत हो जाती है। गालब्लैडर लिवर के नीचे पाई जाने वाली एक पाउच की तरह दिखने वाला अंग होता है। एक सर्वे में बताया गया है की फास्ट फूड और जंक फूड के सेवन और दूषित पानी पीने से इस कैंसर का खतरा बढ़ता है। सबसे ज्यादा स्मोकिंग करने वाले लोग इस कैंसर का ज्यादा शिकार होते हैं स्मोकिंग न करने वालों की तुलना में।

Back to top button