कोरोना से जंग में चीन बेच रहा अपना कबाड़, अब कनाडा को बनाया ठगी का शिकार

0
160

दुनिया कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रही है और इस दौरान मेडिकल सामानों की भारी किल्लत हो गई है। ऐसे में चीन एक ऐसा देश बन गया है जिसने मास्क आपूर्ति के नाम पर हर किसी को चूना लगा रहा है। अब कनाडा में 60 हजार से अधिक मेड इन चाइना मास्क के दोषपूर्ण होने की खबर सामने आई है जिसे लौटाया जा रहा है। वहीं, कनाडा इस बात की भी जांच कर रहा है कि कहीं इन मास्क की वजह से तो हेल्थकेयर स्टाफ कोविड19 के संपर्क में तो नहीं आ रहे हैं।

इन मास्क को एक सप्ताह से पहले ही टोरंटो के विभिन्न अस्पतालों में भेजा गया था। ऐसी खबरें आ रही थीं कि ये मास्क फट रहे हैं जिसके बाद उन्हें अस्पतालों से वापस मंगवाया गया है। स्पेन, नीदरलैंड्स, चेक रिपब्लिक और तुर्की भी उन देशों में शामिल हैं जहां चीन के मास्क को खराब पाया गया है। चीनी कंपनियों की तरफ से मास्क और टेस्ट किट मिले हैं। हालांकि, अभी पूरे कनाडा में खराब मास्क मिलने की रिपोर्ट नहीं आई है और यह सिर्फ टोरंटो शहर का केस है।

पब्लिक सर्विस ऐंड प्रोक्योरमेंट मंत्री अनिता आनंद ने कहा कि ओटावा में प्राइवेट कंपनियों को कहा गया है कि वे सामान कनाडा भेजने से पहले उसकी जांच करवाएं और सामानों को अस्पताल भेजने से पहले भी जांच की जाए। उल्लेखनीय है कि चीन ने पाकिस्तान को अंडरवेयर से बना मास्क भेज दिया था और इसकी जानकारी तब लगी जब यह अस्पताल पहुंचा।

उधर, टोरंटो के 10 केयर होम में कोविड 19 केस की पुष्टि हुई है और हर जगह डिफ्केटिव मास्क पाए गए हैं। शहर के प्रवक्ता ब्रैड रॉस ने बताया कि मास्क तब फट गए जब उन्हें पहना जा रहा था और वेंडर मास्क के बदले में 2 लाख डॉलर वापस कर रहे हैं। सिटी के केयर होम के 15 कर्मचारियों में कोविड19 केस सामने आए हैं , लेकिन रॉस का कहना है कि अब तक ये मामले खराब मास्क से जुड़े नहीं रहे हैं। टोरंटो में सर्जिकल मास्क की काफी कमी हो गई है।