उत्तर प्रदेशख़बर

बुलंदशहर हिंसा : एक महीने बाद पकड़ा गया मुख्य आरोपी, ‘बजरंगी’ योगेश राज गिरफ्तार

Bulandshahr violence case main accused Yogesh Raj arrest

बुलन्दशहर। पिछले माह बुलंदशहर जिले में स्याना थाना क्षेत्र की चिंगरावठी चौकी पर हुई हिंसा का मुख्य आरोपित योगेश राज को पुलिस ने बुधवार देर रात गिरफ्तार कर लिया है। बुलन्दशहर पुलिस आज गुरुवार को योगेश को कोर्ट में पेश करेगी। वह बजरंग दल का जिला संयोजक भी रहा है| बुलंदशहर हिंसा की गूंज देशभर में सुनी गई थी| तब विपक्ष ने इसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की नाकामी बताया था|

उल्लेखनीय है कि बुलन्दशहर जिले की स्याना थाना क्षेत्र की चिंगरावठी चौकी पर तीन दिसम्बर को हिंसा हुई थी। उसमें इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली लगने से मौत हो गई थी। साथ ही बीजेपी युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष सुमित अग्रवाल की भी मौत हो गयी थी। योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक रहा है। बताया जाता है कि योगेश राज की गिरफ्तारी खुर्जा से हुई है। बुलन्दशहर पुलिस योगेश राज से पूछताछ कर उसे गुरुवार को कोर्ट में पेश करेगी। हालांकि पुलिस अधिकारी योगेश की गिरफ्तारी की पुष्टि करने से बच रहे हैं। संभवत: वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इस बाबत प्रेस कान्फ्रेंस कर जानकारी देंगे।

बताते चलें कि 3 दिसंबर को गोकशी के बाद स्याना क्षेत्र के गांव चिंगरावठी में हिंसक वारदात हुई। हिंसा में स्याना कोतवाल सुबोध कुमार और एक युवक सुमित की गोली लगने से मौत हुई थी। हिंसा के बाद स्याना कोतवाली में 27 नामजद और 60 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। इसमें हिंसा के दौरान गोली लगने से मारा गया युवक सुमित भी नामजद किया गया था।

इस तरह हिंसा में पुलिस को 86 आरोपियों की तलाश थी। 86 आरोपियों में से पुलिस अभी तक 26 आरोपियों को ही गिरफ्तार कर सकी है, जबकि सात ने स्वयं ही आत्मसमर्पण किया है। अभी भी 53 आरोपी फरार चल रहे हैं, जिनमें शिखर अग्रवाल आदि शामिल हैं। गुरुवार को पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी योगेश राज को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी योगेश राज को हिंसा का मुख्य आरोपी बनाया है। मंगलवार रात को एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीमों योगेश राज की गिरफ्तारी के लिए जनपद सहित आसपास के जिलों में दबिशें दी थीं।

गौरतलब है कि बुधवार को हिंसा में नामजद बजरंग दल के प्रखंड अध्यक्ष सतीश कुमार पुत्र चन्द्रभान निवासी चांदपुर पूठी और विनीत कुमार पुत्र नरेन्द्र सिंह निवासी ग्राम महाव ने सीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिया। न्यायालय से दोनों नामजद आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। इनके सरेंडर करने की पुलिस को भनक तक नहीं लगी। इस प्रकार हिंसा में अभी तक कुल 32 लोग जेल जा चुके हैं। जबकि 54 आरोपी अभी भी फरार चल रहे हैं। इस संबंध में एसएसपी, प्रभाकर चौधरी का कहना हैकि दो नामजद आरोपी सतीश और विनीत ने न्यायालय में सरेंडर कर दिया है। न्यायालय ने उन्हें जेल भेज दिया। जेल में विवेचक इनके बयान दर्ज करेंगे। अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम दबिश डाल रही हैं।

Back to top button