उत्तर प्रदेश

उपचुनाव के लिए यूपी की इन सीटों पर बसपा के हाथ खाली, जानिए क्या है वजह

Image result for मायावती उपचुनाव

उत्तर प्रदेश में उपचुनाव की तैयारी में जुटी बहुजन समाज पार्टी (बसपा) बहुत जल्द ही अपने उम्मीदवारों के नाम की सूची जारी कर सकती है। प्रदेश की ज्यादातर सीटों पर बसपा ने नाम तय कर लिए हैं लेकिन लखनऊ कैंट और कानपुर की गोविन्दनगर सीट के लिए उम्मीदवारों का चयन अब तक नहीं हो पाया है।

लखनऊ कैंट से पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान बसपा उम्मीदवार योगेश दीक्षित ने भाजपा की सदस्यता ले ली है। योगेश के भाजपा के जाने के बाद बसपा की जिला कमेटी कैंट को मजबूत करने में जुटी थी। इसी दौरान कैंट से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीतने वाली रीता बहुगुणा प्रयागराज से सांसद हो गई। अब कैंट सीट पर उपचुनाव के लिए बसपा की जिला कमेटी और प्रदेश कोर कमेटी के सदस्य उम्मीदवार की तलाश में जुट गए हैं। बसपा की कमेटियों के मेहनत के बाद भी उनको कोई बड़ा नाम या चेहरा नहीं मिल पा रहा है, जो लखनऊ कैंट सीट से उम्मीदवार बनाया जा सके। बसपा के पास जो नाम आ भी रहे हैं वे किसी बिल्डर या अधिवक्ता के हैं। जो टिकट देने बाद जीत हासिल करेंगे या नहीं, ये कहना मुश्किल है।

कानपुर की गोविन्दनगर विधानसभा सीट पर बसपा के उम्मीदवार निर्मल तिवारी 70 हजार से ज्यादा वोटों से हार गए थे। इस हार के बाद निर्मल को बसपा का कमजोर बताया गया था। भाजपा के सत्यदेव पचौरी इस सीट पर विजयी हुए थे। बाद में सत्यदेव पचौरी को भाजपा ने कानुपर से लोकसभा का टिकट दे दिया और वे सांसद हो गए। गोविन्दनगर सीट खाली होने से अब वहां पर भी उपचुनाव होने हैं। बसपा के राष्ट्रीय स्तर के दो नेता इस बार गोविन्दनगर सीट को बसपा पर जीत दर्ज करने के लिए लगाए गए हैं। उन्होंने गोविन्दनगर सीट को लेकर बैठकें की है। उनके दौरे के दौरान उपचुनाव लड़ने के इच्छुक नेताओं ने उनसे मुलाकात की है। जिसमें सेवानिवृत अध्यापक, सेवानिवृत सैन्य अधिकारी, सिंधी-पंजाबी समाज के नेता, बड़े व्यापारी और अधिवक्ताओं के नाम शामिल हैं। कुछ बसपा के पुराने नेताओं के नाम पर भी पार्टी विचार कर रही है। जिन्होंने हर वक्त बसपा का साथ दिया है।

बसपा का लक्ष्य उपचुनाव में बड़ी जीत के साथ आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटना है। लोकसभा चुनाव में सपा से गठबंधन करने वाली बसपा अब अकेले ही उपचुनाव व आगामी विधानसभा में चुनाव लड़ती नजर आने वाली है।

Back to top button