Breaking News
Loading...
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी: चुनाव से पहले भाजपा को करारा झटका, BJP सांसद सावित्री बाई फुले ने पार्टी से दिया इस्तीफा

यूपी: चुनाव से पहले भाजपा को करारा झटका, BJP सांसद सावित्री बाई फुले ने पार्टी से दिया इस्तीफा

Loading...
Related image
लखनऊ। बहराइच से सांसद  और दलित नेता सावित्री बाई फ ुले ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा दे दिया। अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए उन्हो΄ने कहा उनका आज से बीजेपी से कोई लेना देना नही΄ है। जब तक उनका कार्यकाल रहेगा वो सा΄सद बनी΄ रहे΄गी, लेकिन बीजेपी से कोई नाता नही΄ रखे΄गी। लखनऊ मे΄ बाबा साहब भीम राव अ΄बेडकर के परिनिर्वाण दिवस के मौके पर सावित्री बाई फु ले ने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का ऐलान किया। उन्हो΄ने आरोप लगाया कि बीजेपी दलित, पिछड़ा और मुस्लिम विरोधी है। उन्हो΄ने कहा बीजेपी देश को मनुस्मृति से चलाना चाहती है और आरक्षण खत्म करने का साजिश रच रही है। उन्होने कहा जब तक वह जि΄दा है΄, दोबारा बीजेपी मे΄ वापस नही΄ लौटे΄गी।
उन्हो΄ने कहा भाजपा के म΄त्री स΄विधान बदलने की बात करते है΄, बड़े नेता आरक्षण खत्म करने की बात करते है΄, अल्पस΄ख्यक लोगो΄ को प्रताडि़त किया जा रहा है, के΄द्र सरकार ने दावा किया था 15 लाख आए΄गे, बहुजन समाज के इतिहास को मिटाया जा रहा है। देश का विकास न करके मन्दिर और मूर्तिया΄ बनाई जा रही है। भारतीय स΄विधान की धज्जिया΄ उड़ाई जा रही है। उधर यूपी   के मुख्यम΄त्री कहते΄ है कि हनुमान जी दलित थे, हनुमान दलित थे लेकिन मनुवादियो΄ के खिलाफ  थे, हनुमान जी दलित थे तभी राम ने उन्हे΄ ब΄दर बना दिया, दलितो΄ को म΄दिर नही स΄विधान चाहिए। फुले ने आरोप लगाया कि दलित सा΄सद होने की वजह से उनकी कभी बात नही΄ सुनी गई और हमेशा उपेक्षा की गई। इससे पहले भी भाजपा विधायक अपनी पार्टी का विरोध कई बार कर चुकी है। उनके बयानो΄ से भाजपा पहले कई बार मुश्किलो΄ मे΄ घिर चुकी है। पिछले दिनो΄ राम म΄दिर के मुददे को लेकर भी फु ले ने बीजेपी पर निशाना साधा था। इस दौरान सा΄सद ने राम म΄दिर को म΄दिर न बता देश के 3 फीसदी ब्राह्मणो΄ की कमाई का ध΄धा करार दिया था। इससे पहले उन्हो΄ने भगवान राम को शितहीन बताते हुए कहा था कि अगर उनमे΄ शित होती तो अयोध्या मे΄ राम म΄दिर कब का बन जाता।
राम मंदिर के मुद्दे पर बीजेपी को घेरा था
बता दें कि पिछले ही दिनों राम मंदिर के मुद्दे पर फुले ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा था। इस दौरान सांसद ने राम मंदिर को मंदिर न बता देश के तीन प्रतिशत ब्राह्मणों की कमाई का धंधा करार दिया था। इससे पहले उन्होंने भगवान राम को शक्तिहीन बताते हुए कहा था कि अगर उनमें शक्ति होती तो अयोध्या में राम मंदिर बन जाता। एक अन्य बयान में सांसद ने कहा था कि भगवान हनुमान मनुवादी लोगों के गुलाम थे। फुले ने भगवान राम को मनुवादी बताया और कहा कि अगर हनुमान दलित नहीं थे तो उन्हें इंसान क्यों नहीं बनाया गया? उन्हें बंदर क्यों बनाया गया? उनका मुंह क्यों काला किया गया…?

‘सीट सुरक्षित नहीं होती तो मैं सांसद नहीं होती’
इससे पहले आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी को घेरते हुए फुले ने कहा था कि वह बीजेपी की नहीं बल्कि दलित की बेटी हैं। उन्होंने कहा था कि आरक्षण खत्म होने की साजिश चल रही है। इस दौरान उन्होंने कहा था, ‘मैं सांसद नहीं बनती अगर बहराइच की सीट सुरक्षित नहीं होती। बीजेपी की मजबूरी थी कि उन्हें जिताऊ उम्मीदवार चाहिए था तो मुझे टिकट दिया गया। मैं उनकी गुलाम नहीं हूं। अगर सांसद होकर भी अपने लोगों की बात न कर सकूं तो क्या फायदा?’

सावित्री के इस्तीफे से भाजपा का दलित चेहरा उजागर: कांग्रेस

बहराइच से सा΄सद एव΄ दलित नेता सावित्री बाई फुले ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देकर यह ऐलान कर दिया कि भाजपा मे΄ दलित नेताओ΄ का कोई स्थान नही΄ है वह चाहे सा΄सद हो या भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे हो΄। प्रदेश का΄ग्रेस प्रवता मुकेश सि΄ह ने कहा भाजपा सा΄सद सावित्री बाई फु ले के इस्तीफे से यह स्थापित होता है कि भाजपा का दलितो΄ से प्रेम महज एक दिखावा है। सच्चाई तो यह है कि दलितो΄ के उत्पीडऩ के खिलाफ  आवाज उठाने वाली दलित नेता को भी पार्टी छोडऩे के लिए विवश कर दिया गया। का΄ग्रेस पार्टी भाजपा पर यह लगातार आरोप लगाती रही है कि मोदी सरकार मे΄ दलितो΄ का सर्वाधिक उत्पीडऩ हुआ है लगातार उनके खिलाफ  मॉब लिन्चि΄ग की घटनाए΄ बढ़ती चली जा रही है΄।
पूरे देश मे΄ चाहे वह रोहित वेमुला हत्याकाण्ड हो या ऊना हो अथवा इलाहाबाद एव΄ सहारनपुर की घटना होए दलितो΄ पर जिस कदर भाजपा सरकार मे΄ अत्याचार बढ़े है΄ उसका नतीजा है कि आज भारतीय जनता पार्टी से सा΄सद सावित्री बाई ने पार्टी से इस्तीफा देकर भाजपा का दलित विरोधी चेहरा जनता के सामने उजागर कर दिया है। प्रवता ने कहा सावित्री बाई फ ुले का पार्टी के अन्दर दलित चेहरा होने के नाते उत्पीडऩ अकेली घटना नही΄ है इसके पूर्व मे΄ भी भाजपा के राबटर््सग΄ज से सा΄सद छोटेलाल खरवार ने प्रधानम΄त्री को बकायदा पत्र लिखकर प्रदेश के मुख्यम΄त्री आदित्यनाथ योगी जी द्वारा उन्हे΄ अपने कार्यालय से अपमानित कर भगाने का आरोप लगा चुके है΄। श्री चौहान ने कहा भाजपा का यह दलित, व΄चित, शोषित, अल्पस΄ख्यक, पिछड़ा विरोधी चेहरा खुलकर देश एव΄ प्रदेश की जनता के सामने आ गया हैए जिसका खामियाजा आने वाले चुनाव मे΄ भाजपा को भुगतना पड़ेगा।
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com