उत्तर प्रदेश

भाजपा विधायक के बेटे ने पहले तो पुलिस को पीटा, फिर पापा ने थाने पर दे दिया धरना

विधायक के बेटे की दबंगई

आगामी लोक सभा चुनाव का आगाज़ हो चुका है| इस चुनाव में सियासी घमासान के बीच नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयानबाजी भी तेज हो गई है। सभी पार्टियों ने चुनाव के  के मद्देनजर पार्टियों का चुनावी अभियान जारी है| अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी दिग्गज उम्मीदवार अपने संसदीय क्षेत्रों का दिन-रात दौरा कर रहे हैं और अच्छा  माहौल बनाने की कोशिश में जुटे हैं| इसी सब के बीच बताते चले  इस चुनाव में सभी पार्टियों के दिग्गज  नेता रैली, रोड शो, और पब्लिक मीटिंग और घर-घर जाकर लोगों से वोट मांग रहे हैं।

इस बीच यूपी के  झांसी जिले के थाना गुरसरांय क्षेत्र अंतर्गत मोदी चौराहे पर ट्राफिक पुलिस के वाहनों की चैकिंग के दौरान भाजपा विधायक गरौठा पुत्र राहुल राजपूत की दबंगई देखने को मिली सिर्फ बिना नंबर प्लेट की गाड़ी रोकने पर हंगामा खड़ा  हो गया। पुलिस से  काफी  नोकझोंक और मारपीट के बाद विधायक पुत्र को पकड़े जाने पर मामले ने तूल पकड़ किया. और विधायक गरौठा ने समर्थकों सहित थाने जाकर पुलिस कार्रवाई का विरोध किया और धरना-प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

चेकिंग के दौरान छिड़ी जंग 

बताते चले ये मामला  गुरसरांय के मोदी चौराहा पर थाना पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान चौराहा से गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत का बेटा राहुल राजपूत चार पहिया वाहन लेकर निकला जिस पर कोई नंबर नहीं था। पुलिस द्वारा वाहन को रोककर चेकिंग की गयी तो विधायक का दबंग बेटा चेकिंग कर रहे पुलिस कर्मियों से भिड़ गया और गालीगलौज करते हुए मारपीट पर उतर आया। आरोप है कि पुलिस ने राहुल राजपूत पर बल प्रयोग किया उसे पकड़ कर थाने ले गयी। पुलिस का कहना है कि विधायक पुत्र द्वारा चेकिंग में बाधा डालकर गालीगलौज और मारपीट की गई।

विधायक ने किया धरना-प्रदर्शन

इसकी जानकारी होने पर विधायक समर्थकों व स्थानीय नेताओं दर्जनों की तादाद में मोदी चौराहे पहुंच कर जमकर उत्पात मचाया फिर  सड़क पर धरना-प्रदर्शन कर जाम लगा दिया। उधर, गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत अपने समर्थकों के साथ गुरसरांय थाने पहुंच गये। जब इसकी जानकारी प्रदर्शन कर रहे समर्थकों को हुई तो वह भी थाने पहुंच गये और थाने का घेराव कर धरने पर बैठ कर नारेबाजी करने लगे। इससे स्थिति असहज हो गयी।

अधिकारियों के आश्वासन पर थमा मामला

सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारीगण व कई थानों की पुलिस गुरसरांय थाने पहुंच गई। पुलिस अधिकारियों ने विधायक व समर्थकों से बातचीत की। बेटे की दबंगई को छिपाते हुए बीजेपी एमएलए थानाध्यक्ष को सस्पेंड करने की मांग करने लगे। वहीं बवाल बढ़ते देख मौके पर पहुंचे डीएम और एसएसपी ने विधायक को मामले की जांच कराकर निष्पक्ष कार्रवाई करने का भरोसा देकर मामले को शांत कराया।

Back to top button