देश

भाजपा नेता को समझ नहीं आई ‘स्पेस मिशन’ की बात, बधाई पर ट्विटर पर लगी वाट

BJP मंत्री के पल्ले नहीं पड़ा 'स्पेस मिशन', बधाई पर हुए ट्रोल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को देश को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने अंतरिक्ष में एक सैटेलाइट को मार गिराया है. पीएम बोले कि भारत ने इस मिशन को ‘मिशन शक्ति’ का नाम दिया है. आज भारत अंतरिक्ष में महाशक्ति बन गया है. पीएम ने बताया कि LEO सैटेलाइट को मार गिराना एक पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, इस मिशन को सिर्फ 3 मिनट में पूरा किया गया है

इस सब के बीच बताते चले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब बुधवार को भारत के अंतरिक्ष में सुपरपावर बनने का ऐलान किया तो हर कोई बधाई संदेश देने लगा. महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश बापत ने भी डीआरडीओ के वैज्ञानिकों को इस उपलब्धि पर बधाई दी लेकिन वो एक गलती कर बैठे.मंत्री ने “भारत की निगरानी कर रहे सेटेलाइट” को मार गिराने के लिए बधाई दे डाली.

BJP मंत्री के पल्ले नहीं पड़ा 'स्पेस मिशन', बधाई पर हुए ट्रोल

पुणे लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार गिरीश बापत यह नहीं समझ पाए कि यह एक एंटी सेटेलाइट मिसाइल परीक्षण था और भारत ने किसी दूसरे देश के सेटेलाइट नहीं बल्कि अपने ही एक बेकार पड़े सेटेलाइट को मार गिराया है. गिरीश बापत ने मराठी में ट्वीट करते हुए लिखा, भारत ने एंटी सेटेलाइट मिसाइल का इस्तेमाल करते हुए पृथ्वी से 300 किमी दूरी पर अंतरिक्ष में लाउव सेटेलाइट को मार गिराया जो भारत पर नजर रख रहा था.

उन्होंने डीआरडीओ के वैज्ञानिकों को मिशन शक्ति की सफलता के लिए बधाई दी. हालांकि, ट्विटर पर ट्रोल होने के बाद मंत्री के अकाउंट से यह ट्वीट डिलीट कर दिया गया. डीआरडीओ के मुताबिक, बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस इंटरसेप्टर मिसाइल ने सफलतापूर्वक लो अर्थ ऑर्बिट में एक भारतीय सेटलाइट को मार गिराया

BJP मंत्री के पल्ले नहीं पड़ा 'स्पेस मिशन', बधाई पर हुए ट्रोल
ऐसे परीक्षणों में देश अपने ही किसी बेकार हो चुके सैटेलाइट को निशाना बनाते हैं. अंतरिक्ष में अपने सेटेलाइट की सुरक्षा की दिशा में यह उपलब्धि महत्वपूर्ण है.
Back to top button