झारखंड में बीजेपी-एलजेपी का टूटा गठबंधन, चिराग ने किया अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान

0
46

झारखंड में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। सहयोगी पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने राज्य में अकेले चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। एलजेपी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि चुनाव लड़ने का आखिरी फैसला प्रदेश इकाई को लेना था। एलजेपी प्रदेश इकाई ने यह फैसला लिया है कि 50 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ा जाएगा। आज शाम तक पार्टी के उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की जाएगी। बता दें झारखंड की 81 विधानसभा सीटों पर पांच चरणों में चुनाव होंगे। इसकी शुरुआत 30 नवंबर से होगी। परिणाम की घोषणा 23 दिसंबर को होगी।

नक्सली कुंदन को चुनाव लड़ने की इजाजत
एनआईए की अदालत ने सोमवार को जेल में बंद नक्सली कुंदन पाहन को झारखंड विधानसभा चुनाव लड़ने की इजाजत दे दी है। पाहन पर पूर्व मंत्री रमेश सिंह मुंडा की हत्या सहित कई आपराधिक मामले दर्ज है। कुंदन पाहन ने एनआईए कोर्ट में याचिका दायर कर चुनाव लड़ने की अनुमति मांगी थी। 15 नवंबर को पाहन नामांकन पत्र दाखिल करेगा। वह तमार विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। झारखंड की सरकार ने कुंदन पाहन पर 50 लाख रुपये का इनाम रखा था। उसने 2017 में रांची में आत्मसमर्पण कर दिया था। कई पुलिसकर्मियों की हत्या करने के अलावा उस पर पांच करोड़ रुपये नकद और दो किलोग्राम सोना लेकर जा रही एक बैंक की कैशवैन को लूटने का भी आरोप है।

भाजपा ने 52 सीटों पर उम्मीदवार उतारे
भाजपा ने 52 सीटों पर उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। मुख्यमंत्री रघुवर दास को पार्टी ने जमशेदपुर पूर्व से उतारा है, जबकि झारखंड इकाई के प्रमुख लक्ष्मण गिलुआ को चक्रधरपुर से टिकट दिया है। बीजेपी ने अपने मौजूदा 10 विधायकों का टिकट काट दिया है। पार्टी ने 13 टिकट युवाओं और अनुसूचित जनजाति के 17 लोगों को टिकट दिया है। ओबीसी को 21 और पांच महिलाओं को टिकट दिए गए हैं।

कांग्रेस ने जारी की पहली सूची
कांग्रेस ने पहले चरण के चुनाव के लिए पांच उम्मीदवारों के नाम जारी कर दिए। कांग्रेस प्रदेश प्रमुख रामेश्वर उरांव को लोहरदगा सीट से व पूर्व मंत्री चंद्रशेखर दूबे को बिश्रामपुर से टिकट दिया गया है, जबकि के.पी.यादव को भवनाथपुर से मैदान में उतारा गया है। पार्टी ने डाल्टनगंज से के.एन. त्रिपाठी और मनिका सीट से रामचंद्र सिंह पर दांव लगाया है।