‘स्कर्ट वाली बाई साड़ी पहनकर मंदिर में शीश लगाने लगी, यही हैं अच्छे दिन’

0
111

आगामी लोक सभा चुनाव का आगाज़ हो चुका है. इस चुनाव में सियासी घमासान के बीच नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयानबाजी भी तेज हो गई है। सभी पार्टियों ने चुनाव के  के मद्देनजर पार्टियों का चुनावी अभियान जारी है. अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी दिग्गज उम्मीदवार अपने संसदीय क्षेत्रों का दिन-रात दौरा कर रहे हैं और अच्छा  माहौल बनाने की कोशिश में जुटे हैं.  इसी सब के बीच बताते चले  इस चुनाव में सभी पार्टियों के दिग्गज  नेता रैली, रोड शो, और पब्लिक मीटिंग और घर-घर जाकर लोगों से वोट मांग रहे हैं।

इस बीच चुनावी माहौल में यूपी के मेरठ में भारतीय जनता पार्टी के नेता जयकरण गुप्ता की भी जुबान फिसल गई और उन्होंने प्रियंका गांधी वाड्रा को लेकर विवादित बयान दे डाला। मंच से उन्होंने मर्यादा की सभी हदें पार कर दीं।

jayakaran gupta

 BJP नेता जयकरण गुप्ता ने कहा कि स्कर्ट वाली बाई साड़ी पहनकर मंदिर में शीश लगाने लगी है.  भाजपा  नेता के इस बयान की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना भी हो रहा है.

मंगलवार को मेरठ में एक जनसभा के दौरान जयकरण गुप्ता ने कहा, 

‘’कांग्रेस के एक नेता तो बड़ी जोर-जोर से बोलते हैं, अच्छे दिन आए? उन्हें अच्छे दिन दिखाई नहीं देते. अरे स्कर्ट वाली बाई साड़ी पहनकर मंदिर में शीश लगाने लगी, गंगाजल से परहेज़ करने वाले लोग गंगाजल का आचमन करने लगे’’.

जयकरण गुप्ता का ये बयान उस रैली में से सामने आया है, जिसमें उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मुख्य वक्ता थे. इसी रैली में एक और नेता का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह बिना रुके ‘कमल..कमल..कमल..’ कह रहे हैं.

आपको बता दें कि प्रियंका गांधी को लेकर भाजपा नेताओं की ओर से लगातार विवादित बयान आ रहे हैं. इससे पहले केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने भी कांग्रेस महासचिव को लेकर बयान दिया था. तब एक सभा को संबोधित करते हुए महेश शर्मा ने कहा था कि पप्पू कहता है कि प्रधानमंत्री बनेगा, अब तो पप्पू की पप्पी भी आ गई है. महेश शर्मा की टिप्पणी पर राजनीतिक दलों ने कड़ी आपत्ति जताई थी.

आपको बता दें कि पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को मतदान होना है, इसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश की कुल 8 सीटों पर मतदान होना है. इसमें मेरठ, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) जैसी महत्वपूर्ण सीटें शामिल हैं.
हालांकि जयकरन गुप्ता अकेले वो शख्स नहीं है जो इस तरह का बयान देने के बाद सुर्खियों में है। इससे पहले वसीम रिजवी, सुरेंद्र प्रसाद सिंह और अकबरुद्दीन ओवैसी, असदुद्दीन ओवैसी और नरेश अग्रवाल वो नाम हैं जो समय समय पर विवादित बयान देते रहते हैं। अकबरुद्दीन ओवैसी पीएम मोदी को चौकीदार के नाम पर घेरते हैं तो सुरेंद्र प्रसाद सिंह के लिए मायावती वो शख्सियत हैं जो बालों को रंगाकर खुद को जवान साबित करने की कोशिश करती हैं