BJP वाली ‘आत्मनिर्भरता’ : सीएम और डिप्टी सीएम से लेकर बड़े नेताओं तक के चायनीज एप पर अकाउंट !

0
259

3 इडियट्स की मूवी के रियल हीरो सोनम वांगचुक ने चाइना में बनी वस्तुओं के बहिष्कार का आंदोलन चलाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जनता को आत्मनिर्भर बनने के लिए “लोकल के लिए वोकल” का मंत्र दिया है। दूसरी ओर गुजरात के राष्ट्रवादी नेताओं ने अभी तक चाइनीज मोबाइल एप्लिकेशन का मोह नहीं छोड़ा है।

अहमदाबाद की मेयर बिजल पटेल

कोई भी इससे अछूता नहीं
गुजरात भाजपा के कई बड़े नेता चाइनीज मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग कर खुद को देशभक्त बता रहे हैं। इसमें मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष, अहमदाबाद की मेयर, सांसद, विधायक, पुलिस भी शामिल है। बाइटडांस चाइनीज मल्टीनेशनल कंपनी है। टिकटॉक और हेलो जैसे उसके असंख्य प्रोडक्ट हैं। हेलो एप इस समय 14 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। ऐसे विदेशी एप्लिकेशन का नेता खुलेआम उपयोग कर उसका प्रचार भी कर रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया

हर साल चाइना से 5 लाख करोड़ का सामान आता है
स्वदेशी विचार रखने वाले नेता का कहना है कि राज्य और केंद्र में हमारी विचारधारा की सरकार है। उसके खिलाफ आंदोलन करना संस्था के अस्तित्व के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। महत्वपूर्ण यह है कि चाइना के लिए भारत बहुत बड़ा मार्केट है। एक अंदाज के मुताबिक हर साल चाइना से 5 लाख करोड़ का सामान भारत में आता है। आत्मनिर्भर होने के लिए यह आयात बंद करना जरूरी है।

गुजरात पुलिस का एकाउंट

गुजरात पुलिस का भी एकाउंट
गुजरात पुलिस का ऑफिशियल एकाउंट हेलो एप्लिकेशन पर एक्टिव है। इसके दो लाख फालोअर्स हैं। एक भारतीय इंटेलीजेंस एजेंसी द्वारा रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें 42 चाइनीज एप्लिकेशन का उल्लेख किया गया था। ऐसी एप्लिकेशन भविष्य में देश के खिलाफ साइबर अटैक के लिए जवाबदार हो सकती है। ऐसे संकेत दिए थे।

बेबिनार के लिए स्वदेशी प्लेटफार्म का ही उपयोग
भाजपा द्वारा जितनी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग की जाती है, वे सभी स्वदेशी सिस्को कंपनी के प्लेटफार्म से ही होती है। यह एप्लिकेशन भारतीय है। बेबिनार अथवा वीडियो कांफ्रेंसिंग करने के लिए कंपनी के आफिशियल राइट्स पार्टी ने प्राप्त किए हैं।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष जीतू वाघाणी

चीन के विचार-टेक्नालॉजी भरोसे के लायक नहीं
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता भरत पंड्या ने बताया कि अब समय आ गया है कि हमें स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग की आदत डालनी होगी। गैरउपयोगी विदेशी चीजों का बहिष्कार होगा, तो स्वदेशी वस्तु और स्वदेशी उत्पादक तैयार होंगे। इसलिए मेरी अपील है कि जहां तक संभव हो, स्वदेशी मोबाइल एप्लिकेशन उपलब्ध हों, वहां तक विदेशी मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि देश की सुरक्षा को विशेष रूप से ध्यान में रखना आवश्यक है।

प्रवक्ता बोले कि हम टेक्नालॉजी के विरोधी नहीं हैं। स्वदेशी टेक्नालॉजी का अधिक से अधिक उत्पादन और उपयोग होना चाहिए। स्वदेशी और विदेशी एप्लिकेशन के बीच समझ के लिए लोकजागृति आवश्यक है। कई बार बहिष्कार से आविष्कार होते हैं। चीन के विचार, चीजें और टेक्नालॉजी भरोसे के लायक नहीं है। चीन की चीजें सस्ती भले ही हों, पर देश हित के लिए कतई योग्य नहीं है।