बिहार

बिहार की ‘बहुरिया’ ने कर डाला कमाल, ईरान से बचा लाई 263 भारतीय जान

पटना : एक तरफ जहां सारी दुनियां कोरोना वायरस को लेकर सख्ते में वहीं बिहार के हाजीपुर की बहु ने इटली की राजधानी रोम में फंसे 263 भारतीयों को बचाने वाली टीम का हिस्सा थी। खासतौर पर तब ये टीम और भी अधिक खास हो जाती है जब वो कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित देश में इस काम के लिए जा रही हो। एयर इंडिया की टीम के पायलटों ने कुछ ऐसा ही काम किया जिसकी वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी तारीफ कर रहे हैं।

हाजीपुर के रहने वाले स्व. वशिष्ठ नारायण सिंह की बहु और अजीत कुमार की पत्नी स्वाति रावल वर्तमान में एयर इंडिया में कमांडर के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने वर्ष 2004 में एयर इंडिया ज्वाइन किया था। बचाव दल में शामिल कैप्टन स्वाति की खासी तारीफ की जा रही है।

स्वाति भी उस टीम की सदस्य थीं, जो इटली की राजधानी रोम में फंसे 263 भारतीयों को बचाने के लिए गई हुई थीं। रोम एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के विमान को दो पायलट लेकर गए थे, लेकिन उधर से 263 भारतीयों को रोम एयरपोर्ट से लाने जिम्मेदारी स्वाती रावल ने निभाई। बचपन से ही मेधावी स्वाति ने वर्ष 2002 में इंदिरा गांधी उड्डयन अकादमी की ओर से आयोजित लिखित परीक्षाओं में टॉप किया था।

हाजीपुर में स्वाती रावल को जानने वालों जब यह पता चला कि उन्होंने देश के लिए इतना बड़ा काम किया है, जिसकी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर नागरिक उड्डयन मंत्री तारीफ कर रहे हैं तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। स्वाती के इस साहसपूर्ण कार्य के लिए कर्नल ए कुमार, डॉ प्रियेंदु सुमन, सुमित कुमार, दीपक जायसवाल, जय प्रकाश आदि लोगों खुशी जताई है और बधाई दी है।

Back to top button