बिहार सीएम के काफिले पर पथराव,बाल-बाल बचे नीतीश कुमार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर बक्सर में हमला करने की खबरें सामने आ रही है. सूत्रों की माने तो नीतीश कुमार समीक्षा यात्रा के दौरान पूरे बिहार की यात्रा कर रहे हैं और इसी यात्रा के दौरान आज सीएम पर लोगों ने हमला कर दिया, हालांकि सुरक्षाकर्मियों ने सीएम को बचा लिया. पथराव करने वालों में अधिकांश महिलाएं शामिल थी. नाराजगी को लेकर महिलाओं ने हंगामा कर दिया.

समीक्षा यात्रा पर निकले हुए हैं सीएम नीतीश कुमार

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए बिहार राज्य में आयोजित समीक्षा यात्रा पर हैं. पिछले साल सात दिसंबर को समीक्षा यात्रा पश्चिम चंपारण जिले से शुरू हुई. यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री प्रशासनिक अधिकारियों के साथ हर जिले का दौरा कर रहे हैं और जिले के विकास कामों की समीक्षा कर रहे हैं. समीक्षा यात्रा के दौरान हर जिले में ‘सात निश्चय’ से संबंधित योजनाओं की प्रगति, शराबबंदी, बाल विवाह मुक्त एवं दहेज उन्मूलन कार्यक्रम, बिहार लोक शिकायत निवारण कानून के क्रियान्वयन सहित विभिन्न कार्यक्रमों में की गई घोषणाओं का अनुपालन और अन्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जा रही है.

सीएम नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव

Advertisement

शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार पटना से सुबह 10:00 बजे बक्सर के लिए निकले थे. 12.35 बजे वे बक्सर पहुंचे.वहां डुमरांव कृषि कॉलेज में कृषि कुंवर सिंह की प्रतिमा का अनावरण किया. इसके बाद मुख्यमंत्री का काफिला डुमरांव से 6 किलोमीटर दूर नंदन गांव पहुंचा. मुख्यमंत्री तीसरे चरण की समीक्षा यात्रा के क्रम में नंदन गांव पहुंचे थे. मुख्यमंत्री का काफिला गांव के दूसरे टोले में था. वहां विकास कार्यों की समीक्षा कर जब सीएम जाने लगे तो दूसरे टोले के दलित बस्ती के लोगों ने पथराव कर दिया. गांव में 5 टोले हैं. इन्हीं में से एक टोले में दलित बस्ती है. दलित इस बात से आक्रोशित हो गए कि CM उनके टोले में नहीं पहुंचे जहां विकास कार्य नहीं हो पाया है.

advt

 

पथराव में एसडीओ प्रमोद कुमार, डुमरांव थाना प्रभारी सुबोध कुमार, मुख्यमंत्री के गार्ड और तीन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. बक्सर के डीएम अरविंद वर्मा की गाड़ी पर भी पथराव हुआ. इसमें गाड़ी का शीशा टूट गया. हालांकि सीएम के साथ मौजूद सुरक्षाकर्मियों और जिला प्रशासन के पुलिस जवानों ने तत्काल हालात को संभाल लिया.