गजब हैं बीजेपी वाले, खुद कराए दिल्ली का सर्वे, कागजों में जीते और कमल खिला डाले !

0
53

एक सर्वे की मानें को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में यदि अभी चुनाव हों तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 42 सीटें मिल सकती हैं. जी, शुक्रवार को आए इस सर्वे में कहा गया कि वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में तीन सीटें जीतने वाली भाजपा को अभी मतदान होने की स्थिति में बहुमत प्राप्त हो सकता है. खास बात ये है कि इस सर्वे को खुद भाजपा ने कराया है.

भाजपा के लिए ग्लोबल एक्शन यंग नेटवर्क की ओर से किए गए सर्वे में कहा गया कि भाजपा को जहां 42 सीटें मिलेंगी, वहीं सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) को 26 और कांग्रेस को दो सीटें मिल सकती हैं. बता दें कि आप ने पिछले विधानसभा चुनाव में सर्वाधिक 67 सीटें जीती थी, जबकि कांग्रेस अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी.

भाजपा के लिए कराए गए सर्वे में कहा गया कि इस बार भाजपा अपने वोट प्रतिशत में सुधार करते हुए 46.6 प्रतिशत प्राप्त कर सकती है. वहीं, आप पार्टी को 31.8 प्रतिशत वोट के साथ ही संतोष करना पड़ सकता है. कांग्रेस और अन्य को 15.4 व 6.2 प्रतिशत वोट शेयर मिल सकता है.

इस सर्वे में कहा गया है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आप सरकार से 63 प्रतिशत लोग खुश नहीं हैं. इसमें कहा गया है कि वादों के अनुसार, आप पार्टी की सरकार ने निजी स्कूलों की फीस में कटौती, दिल्ली परिवहन निगम में बसों की वृद्धि, रिहायशी इलाकों में कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों में वृद्धि और साफ पानी जैसे अपने वादों को पूरा नहीं किया.

सर्वे में 68 प्रतिशत लोगों ने ऐसा माना कि दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण के लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार है. इसमें कहा गया कि 81 प्रतिशत के साथ दिल्ली की जनता सबसे अधिक भरोसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करती है. इसके बाद केजरीवाल का नंबर आता है.