छेड़खानी का विरोध कर रहीं छात्राओं पर लाठीचार्ज, पथराव और आगजनी

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छेड़खानी के खिलाफ सुरक्षा की मांग को लेकर आंदोलन कर रहीं छात्राओं पर देर रात वाइस चांसलर के आवास के बाहर पुलिस और पीएसी ने लाठीचार्ज कर दिया. इस लाठीचार्ज में कुछ छात्र-छात्राएं घायल भी हुए हैं, जिन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है.

लाठीचार्ज के विरोध में पथराव, आगजनी

लाठीचार्ज होने से आक्रोशित छात्र-छात्राओं ने विरोध में पथराव कर दिया. साथ ही आगजनी भी हुई है. पूरे कैंपस में तनाव का माहौल है. स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए कैंपस परिसर के भीतर और बाहर भारी सुरक्षा बल तैनात हैं. इस मामले में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीएचयू में छात्र-छात्रों पर लाठीचार्ज को निंदनीय करार देते हुए दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है.

दो दिन पहले छात्रा से हुई छेड़छाड़ के विरोध में चल रहे प्रदर्शन की कड़ी में वीसी से मिलने के लिए छात्र-छात्राओं ने वीसी आवास को घेरा था.

देर रात पुलिस और पीएसी का लाठीचार्ज

आंदोलनरत छात्राएं लगातार वीसी से मिलने की कोशिश कर रही थी, लेकिन अभी तक वीसी के साथ उनकी मुलाकात नहीं हुई है. इस बीच शनिवार की रात को पुलिस और पीएसी ने लाठीचार्ज कर दिया. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में फाइन आर्ट्स की छात्राएं छेड़छाड़ के विरोध में पिछले दो दिनों से विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठी थीं.

वाराणसी गए लेकिन चुप रहे पीएम मोदी

जिस समय छात्राएं धरने पर बैठी थीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिनों के लिए वाराणसी भी गए थे, लेकिन छात्राओं के आंदोलन पर उन्होंने कुछ भी कहने और मिलने से परहेज किया. वाराणसी प्रधानमंत्री मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है.

छेड़खानी के खिलाफ फूंका बिगुल

विश्वविद्यालय के त्रिवेणी छात्रावास में रहने वाली छात्रा गुरुवार की शाम वापस छात्रावास लौट रही थी. उसी दौरान भारत कला भवन के पास कुछ युवकों ने छेड़खानी की. विरोध करने पर लोग अपशब्द बोलते हुए भाग निकले.

शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं

इस घटना से नाराज छात्राएं नारेबाजी करते हुए विश्व विद्यालय के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गईं. छात्राओं में छेड़खानी को लेकर इतना गुस्सा है कि बीएफए की छात्रा आकांक्षा सिंह ने अपने बाल मुड़वा लिए. छात्राओं का कहना है कि आए दिन हमारे साथ छेड़खानी की घटनाएं होती रहती है और शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जाती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here