जरा हट के

बेटी को कंधे पर लेकर बेचते थे पेन, एक तस्वीर ने बना दिया बहुत बड़ा बिजनेसमैन

लोग सच ही कहते हैं की कब किसकी किस्मत पलट जाए कोई है कह सकता है। आज जो गरीब है जरूरी है की आनेवाले समय में भी वो गरीब ही रहेगा या फिर आज जो अमीर हैं वो आने वाले कल में भी अमीर ही रहेगा। सीरिया में चल रहे सिविल वॉर की वजह से जहाँ लाखों लोगों की जान गयी है वही लाखों लोग सड़क पर आगये हैं। मामला इतना गंभीर है की लोगों को खाने तक के लाले पड़ गए हैं, लेकिन इन्हीं सब के बीच एक शख़्स ऐसा भी है जिसने अपनी मेह्नत के दम पर अपने परिवार और बच्चों को दोबारा से एक अच्छी जन्दगी दी। आइये आपको बताते हैं की कौन है ये शख़्स और क्या है इसकी कहानी।

बेटी को गोद में ले सड़कों पर बेचता था पेन

सीरिया में चल रहे सिविल वॉर की वजह से अब्दुल रहीम अपने बच्चों और परिवार संग लेबनान आ गया और वहां अपने गुजर बसर के लिए बेटी को गोद में ले लेबनान की सड़को पर पेन बेचा करता था। ये रोज चिलचिलाती धूप में अपनी बेटी को कंधे पे लेकर पेन बेचा करते थे, एकदिन किसी ने अब्दुल की बेटी संग तस्वीर लेकर उसे सोशल मीडिया साइट्स पर डाल दिया। अब्दुल की बेटी संग इस मार्मिक तस्वीर ने खूब लोगों की हमदर्दी बटोरी। लोगों को इस पिता की मजबूरी पर बहुत दया आयी और सभी इसकी मदद करने के लिए आगे आये।

इनकी मदद से आज बन गया है बहुत बड़ा बिज़नेस मैन

लेबनान के एक वेब डेवलपर गिस्सुर सिमोनारसों ने सोशल मीडिया पर अब्दुल की मदद के लिए एक फंडिंग क्राउड बनाया जिसमे लोगों के दिए हुए पैसे कुल मिलाकर 1 करोड़ 29 लाख रुपए जमा होगये। अब्दुल ने इन पैसों का सही उपयोग किया अपना खुद का एक बिज़नेस स्टार्ट कर दिया, इस बिज़नेस में अब्दुल ने अपने साथ और भी 16 सिरयाई रेफ्यूजी को शामिल किया और आज की डेट में अब्दुल एक सफल बिज़नेस मैन है। लोगों की मदद से और गिस्सुर के उठाए हुए कदम की वजह से ही आज अब्दुल एक खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहा है।

Back to top button