महीने के आखिर में पर्स में नहीं बचती सैलरी, जानिए क्या है कारण

0
40

 महीने के आखिर में पैसों की तंगी शायद हर इंसान के लिए परेशानी का सबब बनती है. न जाने सारे पैसे कहां चले जाते हैं? सैलरी के पहले वाले 5 दिनों के दुख के लिए तो कोई शब्द ही नहीं है. एटीम खाली और पर्स में पड़े थोड़े बहुत खुल्ले पैसे से काम चलाना होता है. ऐसे में ऑप्शन बचता है क्रेडिट कार्ड या उधारी.

कभी कोई गरीब नहीं बनना चाहेगा. यहाँ तक कि जो अमीर हैं वो भी हमेशा और अधिक पैसा कमाने की सोचते रहते हैं. आप ने ये भी नोटिस किया होगा कि कई बार कोई गरीब अचानक से अमीर बन जाता हैं तो कोई अमीर गरीबी की गिरफ्त में आ जाता हैं. ये सारा खेल आपके घर की पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी का होता हैं. जिस घर में अधिक नेगेटिविटी होती हैं वहां पैसा कभी भी ज्यादा दिनों तक नहीं टिकता हैं. ऐसे घरो में कुछ ना कुछ नुकसान होता रहता हैं. इस घर के सदस्यों की किस्मत भी काफी खराब होने लगती हैं और ये जिस भी काम में हाथ डालते हैं वो बिगड़ जाता हैं.

अक्सर महीने के आखिर में पैसों की तंगी तो जायदातर लोगो के लिए परेशानी का सबब बनती है.  जाने सारे पैसे कहां चले जाते हैं? सैलरी के पहले वाले 5 दिनों के दुख के लिए तो कोई शब्द ही नहीं है. एटीम खाली और पर्स में पड़े थोड़े बहुत खुल्ले पैसे से काम चलाना होता है. ऐसे में ऑप्शन बचता है क्रेडिट कार्ड या उधारी.

अगर आप भी इस दर्द से हर महीने गुजरते हैं तो आपको बता रहे हैं वो काम काम, जिन्हें महीने के बीच में करने से आप आखिरी दिनों की कंगाली से बच जाएंगे.

 

Image result for आखिर महीना के आखिर में क्यों पर्स में नहीं बचती सैलरी,

 

ऐसे में करे बस ये छोटा सा काम 

1. बैंक में पड़े महीने के खर्च के बचे हुए पैसों में से आधा हिस्सा किसी दूसरे अकाउंट या कही और अलग रख लें.

2. इसके बाद पैट्रॉल या कैब या ट्रैवलिंग के किराए के पैसों को किसी डिजिटल वॉलेट में डाल लें. हो सके तो इनका पैमेंट पहले ही कर दें. इससे आपको सही मायने में पता लग पाएगा कि हाथ खर्च के लिए कितने पैसे बचे हैं.

3. दोस्तों को पार्टी देना, कोई महंगी ड्रेस खरीदना या कोई भी ऐसा खर्च जो बहुत जरूरी न हो उसे अगली सैलरी तक रोक लें. फिलहाल आप सेविंग पर ध्यान दें.

4. क्रेडिट कार्ड को कहीं दबाकर रख लें. जितना खर्च करेंगे अगले महीने भरना होगा और फइर बजट बिगड़ जाएगा.

5. खुल्ले पैसों को एक जगह इकठ्ठा करें. आप देखेंगे कि आखिरी दिनों में ये आपके कितने काम आएंगे.

इन कामों को करने के बाद आपके पास यकीनन कुछ पैसे बच ही जाएंगे. न भी बचे तो आपके ऊपर कोई उधारी नहीं रहेगी. इसके बाद अगली सैलरी पर ये चीज़ें कुछ समय पहले से करेंगे तो आप सेविंग भी कर पाएंगे.